पर्यावरण की स्वच्छता के लिए युवाओं का जागृत होना जरूरी : प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज

पर्यावरण की स्वच्छता के लिए युवाओं का जागृत होना जरूरी : प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज

एचएयू में राष्ट्रीय पर्यावरण युवा संसद आयोजित

हिसार :  20 जनवरी  रवि पथ :

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय की लिटरेरी एंड डिबेटिंग सोसायटी द्वारा अन्तर महाविद्यालय समूह चर्चा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। यह प्रतियोगिता पर्यावरण संरक्षण समिति द्वारा आयोजित राष्ट्रीय पर्यावरण संसद -2022 के तहत कराई गई जिसमें 8 विजेताओं को विश्वविद्यालय स्तर पर चुना जाएगा।  प्रतियोगिता का आयोजन छात्र कल्याण निदेशक डॉ. देवेन्द्र सिंह दहिया की देखरेख में पर्यावरण संरक्षण समिति के दिशानिर्देशानुसार किया गया। ऑनलाइन माध्यम से आयोजित इस प्रतियोगिता में एचएयू एवं गुजवि, हिसार के कुलपति प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज बतौर मुख्यातिथि उपस्थित रहे। मुख्यातिथि ने कहा कि पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए युवाओं का जागृत होना बहुत जरूरी है। इसके लिए दैनिक कार्यों में छोटी किन्तु महत्त्वपूर्ण बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए। इसके तहत बिजली के उपकरण को तभी प्रयोग करें जब आवश्यक हो, अन्यथा बंद करें। किसानों के लिए आवश्यक है कि पानी का प्रयोग ड्रिप सिंचाई प्रणाली का प्रयोग करके करें। इस प्रतियोगिता के आयोजन के लिए विभिन्न समितियों का गठन किया गया था। लिटरेरी एंड डिबेटिंग सोसायटी की अध्यक्ष डॉ. अपर्णा ने बताया कि यह प्रतियोगिता सभी विश्वविद्यालयों के स्नातक व स्नातकोत्तर  विद्यार्थियों के लिए आयोजित की गई थी। इस प्रतियोगिता में 68 विद्यार्थियों ने भाग लिया जिसका संचालन डॉ. अनुराग ने किया। डॉ. राम निवास ने ज़ूम ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लिंक तैयार किया और पंजीकरण से सम्बंधित कार्य डॉ. राजेश कथवाल ने किया। इस प्रतियोगिता के आयोजन में डॉ. पूनम मोर, डॉ. सुमन गहलावत, डॉ. देव व्रत का विशेष सहयोग रहा।