गरीब परिवारों की आय बढाना अंत्योदय परिवार उत्थान मेलों मुख्य ध्येय: उपायुक्त जितेंद्र यादव

गरीब परिवारों की आय बढाना अंत्योदय परिवार उत्थान मेलों मुख्य ध्येय: उपायुक्त जितेंद्र यादव

 समाज के अंतिम व्यक्ति को लाभांवित कर रही है सरकार

डीसी जितेंद्र यादव ने फरीदाबाद बीडीपीओ ब्लॉक में आयोजित अंत्योदय मेले का किया उद्घाटन

मेले में 298 लाभार्थियों ने अपना रेजिस्ट्रेशन करवाया

फरीदाबाद, 03   रवि पथ :

उपायुक्त जितेन्द्र यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को आजीविका के संसाधन उपलब्ध करवाने के लिए अंत्योदय मेले आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की आय बढाना सरकार का मुख्य ध्येय है।
गरीब लोगों को समाज की मुख्यधारा से जोडऩे में मुख्यमंत्री अंतोदय परिवार उत्थानयोजना कारगर सिद्ध हो रहे हैं।
डीसी जितेन्द्र यादव वीरवार को मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना केतहत द्वितीय चरण के दूसरे मेले के शुभारंभ अवसर पर सेक्टर-16 फरीदाबाद बीडीपीओ कार्यालय परिसर में आयोजित अंत्योदय मेले का उद्धाटन करके अवलोकन कर रहे थे।
डीसी जितेन्द्र यादव ने कहा कि जिला में पहले चरण के मेलों का सफल आयोजन किया जा चुका है और अब दूसरे चरण के मेलों का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में अंत्योदय की भावना के साथ सबका साथ-सबका विकास व सबका विश्वास जीतते हुए गरीब परिवारों की आय बढ़ाने के लिए कृतसंकल्प है। हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेशभर में आयोजित किए जा रहे मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान मेलों के माध्यम से समाज में अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का सीधा लाभ पहुंचाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जनसेवा को समर्पित होकर अंत्योदय की भावना से अंतिम व्यक्ति के उत्थान में सराहनीय व उल्लेखनीय कदम उठा रही है। प्रदेश में गरीब परिवारों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना लागू की गई है, जिसका मुख्य उद्देश्य अंत्योदय की भावना से जरूरतमंद को आर्थिक रूप से लाभांवित करना है। यह योजना गरीब उत्थान में मिल का पत्थर साबित हो रही है। उन्होंने कहा इस योजना के तहत लघु उद्यमियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस योजना के तहत उन परिवारों को शामिल किया गया है। जिनकी वार्षिक आय एक लाख रुपए से कम हैं और उनकी आय को एक लाख 80 हजार रुपए तक पहुंचाना प्रदेश सरकार का मुख्य लक्ष्य है। सरकार की ओर से तीन फेज में पात्रता निर्धारित की गई है और उसी अनुरूप योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों को अंत्योदय मेले से दिया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि अधिकारी मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना (एमएमएपीयूवाई) के तहत चिन्हित परिवारों की आय बढ़ाने के लिए प्रयास करें।
उन्होंने बताया कि आवेदक
ये दस्तावेज़ जरूर लाए। परिवार पहचान पत्र,
आधार कार्ड,
बैंक खाता कॉपी,
पासपोर्ट साइज़ फोटो,वोटर कार्ड आदि। हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन
हरियाणा पिछडे वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवारों को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए ग्रामीण स्व-रोजगार द्वारा प्रशिक्षण योजना,
कल्याण निगम
दीनदयाल अंत्योदय योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण,
अल्पसंख्यक समुदाय के व्यक्तियों के लिए सावधि
आजीविका मिशन योजना,
ऋण योजना क्रेडिट लाइन,
दीनदयाल उपाध्याय – ग्रामीण कौशल योजना,पिछड़े वर्ग के व्यक्तियों के लिए सावधि ऋण योजना,
दिव्यांगजनो के लिए सेवा और व्यापार क्षेत्र में लघु ईकाई,
पशुपालन और डेयरी विभाग
व्यवसाय योजना,दिव्यांगजन स्वावलंबन योजना,
हाइटेक डेयरी,मिनी डेयरी इकाइयों की स्थापना,पिछड़े वर्ग के व्यक्तियों के लिए शैक्षिक ऋण योजना,
अल्पसंख्यक समुदाय के व्यक्तियों के लिए पशुधन इकाइयों, डेयरी, सूअर, भेड़ व बकरी ऋण योजना क्रेडिट लाइन,इकाई की स्थापना करके अनुसूचित जातियों को
रोजगार के अवसरों के लिए योजना,विकास एवं पंचायत विभाग,सामान्य, ओ.बी.सी. वर्ग के लिए सूअर,भेड़ व बकरी पालन,
स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण इकाई की स्थापना करके रोजगार के अवसरों के लिए हरियाणा ग्रामीण विकास योजना
लिए योजना,
नाबार्ड प्रायोजित कार्य,बैकयार्ड, कुक्कुट इकाईयों की स्थापना के लिए योजना, हरियाणा ग्रामीण विकास निधि प्रशासनिक बोर्ड कार्य,ग्राम निधि, पंद्रहवें वित्त आयोग अनुदान और राज्य
शहरी स्थानीय निकाय विभाग
वित्त आयोग अनुदान कार्य,
राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन,हरियाणा तालाब एवं अपशिष्ट जल प्रबंधन,पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि)
प्राधिकरण के तहत तालाब जीर्णोद्धार कार्य,
महिला एवं बाल विकास, खेल, पशुपालन आदि
हरियाणा अनुसूचित जातियां वित्तीय एवं विकास निगम
विभिन्न विभागों के जमा कार्य,महिला अधिकारिता योजना (नेशनल सफाई कर्मचारी हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद,
फाइनेंस ऐंड डेवलपमेंट कारपोरेशन,सावधि ऋण (नेशनल सफाई कर्मचारी फाइनैंस ऐंड ब्यूटी केयर प्रशिक्षण
डेवलपमेंट कारपोरेशन,
कम्प्यूटर प्रशिक्षण,कृषि क्षेत्र (बैंक टाई अप),सिलाई एवं कढाई प्रशिक्षण,
औद्योगिक क्षेत्र (बैंक टाई अप),
हरियाणा महिला विकास निगम,व्यापारिक क्षेत्र (बैंक टाई अप),विधवाओं के लिए अनुदान योजना,व्यवसायिक क्षेत्र (बैंक टाई अप),व्यक्तिगत ऋण योजना,
सूक्ष्म ऋण योजना (नेशनल सफाई कर्मचारी फाइनैंस
एंड डेवलपमेंट कारपोरेशन,
हरियाणा एग्रो इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन लिमिटेड,हर-हित रिटेल स्टोर
सी.एस.सी ई-गवर्नेस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड,कॉमन सर्विस सेंटर
ग्रामीण विकास विभाग,महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना,
उद्यान विभाग मधुमक्खी पालन, एकीकृत बागवानी विकास के लिए योजना,
हरियाणा डेयरी विकास सहकारी प्रसंघ लि,मशरूम की खेती, एकीकृत बागवानी विकास के लिए,वीटा बूथों का आवन्टन
योजना,
रोजगार विभाग,
हरियाणा कौशल विकास मिशन,
सक्षम युवा योजना ,सूर्य योजना,प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना,
हरियाणा रेड क्रॉस सोसाइटी,
चालक प्रशिक्षण
होम नर्सिंग प्रशिक्षण,
सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम निदेशालय,
मत्स्य पालन विभाग,प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी), मत्स्य क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले अनुसूचित,
प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्योंग, अन्य जातियों के परिवार का कल्याण
औपचारिककरण (पीएमएफएमई) योजना,मछली पालन, प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा सहित तमाम विभागों द्वारा मुख्यमंत्री अंतोदय परिवार उत्थान योजना के तहत गरीब और जरूरत मंद लोगों को सहायता सरकार द्वारा निर्धारित हिदायतों के अनुसार दी गई।
डी सी जितेन्द्र यादव ने विभागों की योजनाओं को दर्शाती स्टॉल का अवलोकन करते हुए आवश्यक निर्देश भी दिए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से रूबरू होते हुए विभागीय स्तर पर प्रदत्त सेवाओं को तत्परता से सरल तरीके से योजना का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए प्रेरित किया।
इस मेले में 299 लाभार्थियों ने अपना रेजिस्ट्रेशन करवाया और 100 से अधिक लाभार्थियों को रोजगार, स्वरोजगार, वेतन सहायता व अन्य लाभ दिया गया।
इस अवसर पर डीडीपीओ राकेश मोर, बीडीपीओ अंकित चौधरी, बीडीपीओ प्रदीप कुमार,खादी ग्रामोद्योग के जिला प्रबंधक अनिल दलाल, सीमजीजीए करण कपूर, जिला समाज कल्याण अधिकारी  सुशीला देवी,
रैडक्रास के सचिव विकास कुमार,समाज सेवी विमल खण्डेलवाल सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।