होटल व पर्यटन के क्षेत्र में अपार सम्भावनाएं :-कंवर पाल

होटल व पर्यटन के क्षेत्र में अपार सम्भावनाएं :-कंवर पाल

  • लोगों से प्रशिक्षण लेकर व्यवसायं करने का किया आह्वïान
  • पर्यटन मंत्री ने किया स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम का शुभारंभ
    रोहतक, 5 मई रवि पथ :
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट (तिल्यार झील, रोहतक) में आज पर्यटन मंत्री कंवर पाल ने होटल व्यवसाय, आतिथ्य-सत्कार व पर्यटन के क्षेत्र में कौशल-विकास और रोजग़ार को बढ़ावा देने वाले प्रशिक्षण-पाठ्यक्रमों का उदघाटन किया। इसके तहत कौशल परिक्षण एवं प्रमाणन प्रोग्राम, इन्टरप्रेन्योरशिप (स्वरोजगार) प्रोग्राम व हुनर से रोजग़ार तक प्रशिक्षण प्रोग्राम शुरू किये गए हैं। ये प्रोग्राम बिलकुल निशुल्क है।
    पर्यटन मंत्री कंवर पाल ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार प्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में बहुत काम कर रही है। उन्होंने मोरनी हिल्स, टिक्कर-ताल, राखिगढ़ी व कुरुक्षेत्र आदि क्षेत्रों का जिक्र करते हुए कहा कि हरियाणा में होटल और पर्यटन में अपार संभावनाएं है। रोहतक के आस पास काफी होटल और फ़ार्म टूरिज्म का विकास हुआ है। ऐसे में इंडस्ट्री को कुशल और सक्षम लोगों की अत्याधिक आवश्यकता है। इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट इस दिशा में लोगों को ट्रेनिंग देने का बेहतरीन काम कर रहे है। उन्होंने कहा कि पर्यटन मंत्री होने के नाते उनकी कोशिश है कि लोग नौकरी के साथ-साथ खुद के रोजग़ार करें, जिससे ना केवल वो खुद आगे बढ़ें बल्कि और लोगों के लिए भी रोजग़ार के अवसर पैदा हों। उन्होंने इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट रोहतक में कौशल परिक्षण एवं प्रमाणन प्रोग्राम, इंटरप्रेन्योरशिप (स्वरोजगार) प्रोग्राम व हुनर से रोजग़ार तक प्रशिक्षण प्रोग्राम का उद्घाटन करते हुए उन्होंने लोगों से इन प्रशिक्षण पाठ्ïयकर्मो का लाभ उठाने की अपील की।
    कंवर पाल ने कहा कि सरकार द्वारा होमस्टे के क्षेत्र में प्रशिक्षण और रोजग़ार के लिए विशेष मुहीम चलाई गयी है। इसी दिशा में कदम उठाते हुए इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट रोहतक में इंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम के तहत होमस्टे के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा इंस्टिट्यूट में बेकरी के लिए भी प्रशिक्षण पाठ्यक्रम शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि इन प्रोग्राम के द्वारा लोग इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट रोहतक से प्रशिक्षण लेकर अपना व्यवसाय शुरू कर पायेंगे। इसके साथ इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट ने पीजीआई, रोहतक के सफाई कर्मचारियों के लिए विशेष ट्रेनिंग की व्यवस्था है, जिसमें उन्हें हॉस्पिटल में उचित गुणवत्ता मानदंडों की स्वच्छता व सफाई रखने की ट्रेनिंग दी जायेगी।
    पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव एमडी सिन्हा (आईएफएस) ने बताया कि हरियाणा में टूरिज्म विभाग के अंतर्गत पांच होटल मैनेजमेंट कॉलेज है। इनमें रोहतक, पानीपत, फऱीदाबाद, यमुनानगर और कुरुक्षेत्र शामिल है। इन कॉलेजों में हॉस्पिटैलिटी और होटल मैनेजमेंट के डिग्री और डिप्लोमा कोर्स करवाए जाते है। काफी समय से कोरोना से जूझने के बाद भी इस वर्ष इन सभी कॉलेजों के हर छात्र के पास औसत दो-दो नौकरियों के ऑफऱ है, जो होटल और पर्यटन जगत के लिए बहुत सकारात्मक सन्देश है।
    पर्यटन विभाग के निदेशक अमरजीत सिंह मान (आईएएस) ने बताया कि होमस्टे और फार्म टूरिज्म पर हरियाणा पर्यटन विभाग इशेष रूप से काम कर रहा है। उन्होंने लोगों से इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट रोहतक से होमस्टे की जानकारी और परिक्षण लेकर इस दिशा में अपना रोजगार करने की अपील की। उन्होंने बताया की दिल्ली, फऱीदाबाद, नोएडा, चंडीगढ़ आदि शहरों के नजदीक होने से होमस्टे के क्षेत्र में कामयाबी की अपार संभावनाएं है।
    इसके पश्चात प्रधानाचार्य मोहम्मद शाहिद हसनैन ने सबका धन्यवाद किया। पर्यटन मंत्री, प्रधान सचिव पर्यटन और निदेशक टूरिज्म ने इंस्टिट्यूट में वृक्षारोपण किया। इस मौके पर रेणुबाला डीएफओ रोहतक, भानु विज प्रधानाचार्य आईएचएम यमुनानगर, अतुल शुक्ला- प्रधानाचार्य आईएचएम फऱीदाबाद, रामफल कुंडू मौजूद रहे।