किसी भी क्षेत्र की प्रगति और विकास में शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान : एसीएस

किसी भी क्षेत्र की प्रगति और विकास में शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान : एसीएस

हिसार, 10 दिसंबर  रवि पथ :

श्रम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ राजा शेखर वुंडरू ने कहा कि किसी भी क्षेत्र की प्रगति और विकास के लिए शिक्षा का प्रचार एवं प्रसार बहुत जरूरी है।
अतिरिक्त मुख्य सचिव स्थानीय संत कबीर छात्रावास में संत कबीर शिक्षा समिति हिसार के सौजन्य से आयोजित किए गए कार्यक्रम को बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं और बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा का प्रचार एवं प्रसार अति आवश्यक है। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में शिक्षा के स्तर को उच्चा उठाने के लिए विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों को प्रभावशाली ढंग से लागू किया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा गरीब बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए भी कारगर कदम उठाए गए हैं। सरकार द्वारा लड़कियों को स्नातक तक नि:शुल्क शिक्षा मुहैया करवाई जा रही है। शिक्षा बोर्ड एवं विश्वविद्यालय स्तर की परीक्षाओं में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले गरीब परिवारों के बच्चों को छात्रवृत्ति भी प्रदान की जा रही है।
श्रम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने विद्यार्थियों का आह्वान करते हुए कहा कि वे प्रतिस्पर्धा के इस दौर में कौशल विकास एवं तकनीकी शिक्षा को प्राथमिकता देकर अपने भविष्य को उज्जवल बना सकते हैं। उन्होंने विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में अध्ययनरत तथा छात्रावास में रहने वाले विद्यार्थियों से विस्तार से बातचीत की। उन्होंने गरीब परिवारों के बच्चों को विशेषकर शिक्षा के क्षेत्र में प्रदत्त की जा रही सुविधाओं बारे संत कबीर शिक्षा समिति की प्रशंसा की। उन्होंने संस्थान में बहुउद्देशीय कौशल विकास संस्थान केंद्र स्थापित करने की दिशा में हरसंभव सहयोग देने का आश्वासन दिया है। संत कबीर शिक्षा समिति के प्रधान रोशन लाल (सेवानिवृत एचसीएस) ने अतिरिक्त मुख्य सचिव का स्वागत करते हुए समिति द्वारा किए जा रहे सामाजिक कार्यों बारे विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर डॉ दलबीर भारती (सेवानिवृत आईजी), डीएसपी अशोक कुमार, समिति के संरक्षक जोगीराम खुंडिया, सुंदर सिंह नागर, अशोक भारती, रत्न बडग़ुज्जर, कैप्टन तुलाराम, अतर सिंह सुरलिया, मास्टर पवन कुमार, चांदीराम खटक, पृथ्वी सिंह मोरवाल सहित समिति के अनेक सदस्य एवं गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे।