स्टेट अवार्डी शिक्षकों को सेवा विस्तार न देना चिंतनीय: अशोक शर्मा

स्टेट अवार्डी शिक्षकों को सेवा विस्तार न देना चिंतनीय: अशोक शर्मा

रोहतक, 22 मई रवि पथ :

हरियाणा सरकार ने राज्‍य शिक्षक अवार्ड में संशोधन किया है। राज्‍य सरकार ने शिक्षक अवार्ड की पुरस्‍कार राशि में वृद्धि की है, लेकिन इसके साथ ही अब अवार्ड विजेता शिक्षकों को दो साल का एक्सटेंशन नहीं मिलेगा। हालांकि, इसके साथ ही पुरस्कार राशि 21 हजार रुपये से बढ़ाकर सीधे एक लाख रुपये कर दी गई है। सलाह संगठन ने राशि में बढ़ोत्त्तरी के निर्णय की सराहना करते हुए सरकार से सेवा विस्तार की भी मांग की है। सलाह के उपाध्यक्ष अशोक शर्मा ने कहा कि अवार्डी शिक्षकों को दो साल का एक्सटेंशन नहीं देेने का निर्णय तर्क संगत नहीं है। उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा पुरस्कार राशि बढ़ाना प्रशंसनीय है, परंतु दो वर्ष से शिक्षक पुरस्कार न देना व स्टेट अवार्डी शिक्षकों को दो वर्ष का सेवा विस्तार न देना चिंतनीय है। राज्य पुरस्कार से सम्मानित शिक्षकों को शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन शिक्षक माना जाता है। ऐसे शिक्षकों को दो वर्ष का सेवा विस्तार न देना समझ से परे है। उन्होंने कहा कि स्टेट अवार्डी शिक्षकों के सेवा विस्तार से शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा। तुरंत प्रभाव से पिछले वर्ष का स्टेट अवार्ड घोषित करके दो वर्ष के देय अवार्ड देकर शिक्षकों को सम्मानित किया जाए। इसके अलावा स्टेट अवार्डी शिक्षकों को दो वर्ष का सेवा विस्तार न देने के आदेश को वापस लिया जाए। सलाह राज्य सचिव भूपेन्द्र मलिक, सह सचिवअरुण दांगी, विनोद भमला, भिवानी प्रधान राजबीर धारेडू, जींद प्रधान वीरेंद्र मलिक रोहतक प्रधान रमेश नेहरा आदि ने सरकार से सेवा विस्तार देने की मांग की।