हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के रिहायशी प्लाटों को नीलामी कर आवंटित किए जाने का निर्णय जनविरोधी: अभय सिंह चौटाला

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के रिहायशी प्लाटों को नीलामी कर आवंटित किए जाने का निर्णय जनविरोधी: अभय सिंह चौटाला

भाजपा और कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं जिनको प्रदेश की जनता से कोई लेना देना नहीं

पहले भूपेंद्र हुड्डा ने मुख्यमंत्री रहते प्रदेश को जमकर लूटा और अब भाजपा गठबंधन सरकार दोनों हाथों से लूटने में लगी है

भूपेंद्र हुड्डा द्वारा नीलामी प्रक्रिया पर आपत्ति उठाए जाने को कहा ‘नौ सौ चूहे खा कर बिल्ली हज को चली’

आईएमटी मानेसर, उडार गगन, स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी, पंचकूला स्थित इंडस्ट्रीयल प्लाट समेत अनेकों जमीन घोटाले किए जिस कारण प्रदेश की मध्यमवर्गीय जनता को प्लाट लेने से वंचित किया गया

चंडीगढ़, 28 मार्च  रवि पथ :

इनेलो प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने भाजपा गठबंधन सरकार द्वारा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के रिहायशी प्लाटों को ड्रा द्वारा दिए जाने की प्रणाली को खत्म कर नीलामी कर आवंटित किए जाने के निर्णय की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि इससे आम आदमी का घर बनाने का सपना सिर्फ सपना बन कर रह जाएगा। ड्रा द्वारा प्लाट सरकारी रेट पर मिल जाता था लेकिन नीलामी करने से उसी प्लाट की कीमत कई गुणा बढ़ जाएगी। भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण महंगाई और बेरोजगारी चरम पर है। आज हालात ये हैं कि आसमान छू रही महंगाई के कारण आम आदमी घर खर्च चलाने में भी असमर्थ है। नीलामी करने से सीधा फायदा बड़े पूंजीपतियों को होगा और आम आदमी के हाथ सिर्फ निराशा ही लगेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे बट्टे हैं जिनको प्रदेश की जनता से कोई लेना देना नहीं है। पहले भूपेंद्र हुड्डा ने मुख्यमंत्री रहते प्रदेश को जम कर लूटा और अब भाजपा गठबंधन सरकार दोनों हाथों से लूटने में लगी है।
वहीं दूसरी तरफ भूपेंद्र हुड्डा द्वारा नीलामी प्रक्रिया पर आपत्ति उठाए जाने को ‘नौ सौ चूहे खा कर बिल्ली हज को चली’ की संज्ञा देते हुए कहा कि हुड्डा ने मुख्यमंत्री रहते हुए किसानों की बेशकिमती हजारों एकड़ जमीन बिल्डरों को कौडिय़ों के भाव देकर करोड़ों रूपए का फायदा पहुंचाया। भूपेंद्र हुड्डा आज प्रदेश के लोगों का हितैषी होने का ढोंग रच रहे हैं जबकि हुड्डा ने प्रदेश के किसानों को जमकर लूटा और सेक्शन 4, 6 और अवार्ड के बाद जारी हुई जमीन को भी बिल्डरों को दी जिसकी सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की और कोर्ट में केस चल रहे हैं। इसी संदर्भ में इनेलो पार्टी द्वारा 2014 में एक चार्जशीट तत्कालीन गवर्नर को सौंपी गई थी। उन्होंने गुरुग्राम स्थित वजीराबाद की 274 एकड़ जमीन का हवाला देते हुए कहा कि हुड्डा ने मुख्यमंत्री रहते हरियाणा अर्बन डवलपमैंट अथोरिटी की जमीन जो प्रदेश के मध्य और गरीब वर्ग के लोगों के लिए रिहायशी प्लाटों के लिए एक्वायर की गई थी उसको गैरकानूनी ढंग से एचएसआईआईडीसी में स्थानांतरित कर दिया था जिससे बिल्डर को करोड़ों रुपए का फायदा पहुंचाया गया। आईएमटी मानेसर, उडार गगन, स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी, पंचकूला स्थित इंडस्ट्रीयल प्लाट समेत अनेकों जमीन घोटाले किए जिस कारण प्रदेश की मध्यमवर्गीय जनता को प्लाट लेने से वंचित किया गया।