गलघोटू व मुह खुर की बीमारी से बचाने के लिए 4 लाख 90 हजार 184 पशुओं को लगाए टीके

गलघोटू व मुह खुर की बीमारी से बचाने के लिए 4 लाख 90 हजार 184 पशुओं को लगाए टीके

हिसार, 07 जनवरी  रवि पथ :

पशुपालन एवं डेयरी विभाग द्वारा जिले में पशुओं को गलघोंटू व मुह खुर की बीमारी से बचाने के लिए 4 लाख 90 हजार 184 पशुओं को टीके लगाए जा चुके हैं।
यह जानकारी देते हुए विभाग के एसडीओ डॉ रविंद्र कुमार कौशिक ने बताया कि विभाग द्वारा गठित की गई विभिन्न चिकित्सकों की टीमों ने एक विशेष टीकाकरण अभियान के तहत गलगोटू एवं मुहखुर के रोग पर रोकथाम के लिए पशुओं को टीके लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा जिले में दुग्ध उत्पादन की दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही मांग के दृष्टिगत उत्तम नस्ल के दुधारू पशुओं की डेयरी भी स्थापित करवाई जा रही है। मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत जिले के विभिन्न स्थानों पर जिन व्यक्तियों ने गायों एवं भैंसों की डेयरी स्थापित करने के लिए आवेदन किया था, उनमें से 575 आवेदन पत्रों को ऋण उपलब्ध करवाने के लिए विभिन्न बैंको के पास भेजा जा चुका है। उन्होंने बताया कि शेष आवेदन पत्रों को जांच के उपरांत शीघ्र ऋण हेतु संबंधित बैंकों की शाखाओं में भेज दिया जाएगा। विभाग द्वारा भैंसों/गायों की डेयरी स्थापित करने वाले पशुपालकों को 25 प्रतिशत का अनुदान का लाभ दिया जाता है।
एसडीओ ने बताया कि विभाग द्वारा बकरी एवं भेड़ पालन का व्यवसाय करने वाले अनुसूचित जाति वर्ग के व्यक्तियों को 90 प्रतिशत तथा सामान्य वर्ग के व्यक्तियों को 25 प्रतिशत का अनुदान दिया जाता है। उन्होंने बताया कि दुधारू पशुओं की डेयरी स्थापित करने तथा भेड़ व बकरी पालन का व्यवसाय शुरू करने के इच्छुक व्यक्ति किसी भी कार्यदिवस को विभाग के कार्यालय में स्थापित कर सकते हैं।