उपायुक्त ने सेक्टर-33 एवं केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान में खड़े पानी की निकासी के लिए अधिकारियों को दिए निर्देश

उपायुक्त ने सेक्टर-33 एवं केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान में खड़े पानी की निकासी के लिए अधिकारियों को दिए निर्देश

ड्रेन के लिए 1456 लाख रुपये की राशि स्वीकृत हुई, जल्द किए जाएंगे टैंडर

हिसार, 21 जनवरी  रवि पथ :

उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षक अभियंता टीआर पंवार को सेक्टर-33 एवं केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान में खड़े पानी की निकासी करवाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं।

उपायुक्त ने शुक्रवार को स्थानीय लघु सचिवालय परिसर स्थित अपने कार्यालय में केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान के निदेशक टीके दत्ता, प्रधान वैज्ञानिक डॉ लैलर तथा अधीक्षक अभियंता टीआर पंवार के साथ बैठक की। उन्होंने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षक अभियंता को अतिरिक्त पंपिंग सेट लगाकर पानी की निकासी करवाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि संबंधित विभागों के अधिकारी आपसी तालमेल स्थापित कर पानी की निकासी करने के लिए कारगर कदम उठाएं। उपायुक्त ने ड्रेन के लिए स्वीकृत की गई राशि के टैंडर भी जल्द करने के निर्देश दिए हैं। अधीक्षक अभियंता ने उपायुक्त को बताया कि लगभग 300 एकड़ में खड़े बरसाती पानी की निकासी के लिए विभाग द्वारा बरवाला चुंगी पर डिस्पोजल बनाया हुआ है, जिसके माध्यम से शहर का लगभग 60 प्रतिशत बरसाती पानी निकाला जाता है। बरसाती पानी सिरसा रोड़ पर पुलिस लाइन के आगे से जाने वाली ओपन ड्रेन में डाला जाता है। ड्रेन का कुछ हिस्सा सेक्टर-33 के प्लाटों से निकलने के कारण इसे हुड्डा विभाग द्वारा बंद कर दिया गया। ड्रेन को बदलकर बगला रोड़ से लेकर हिसार ड्रेन में डालने की योजना बनाई गई। इस कार्य के लिए 1456 लाख रुपये की मंजूरी मिल गई है, जिसके जल्द टैंडर किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा चार फीट खड़े पानी में से दो फीट पानी की निकासी की जा चुकी है तथा शेष खड़े पानी की निकासी करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।