मिलावटी तेल की बिक्री पर बिफरे पैट्रोल पंप संचालक

मिलावटी तेल की बिक्री पर बिफरे पैट्रोल पंप संचालक

प्रशासन ने शिकंजा ना कसा तो पेट्रोल पंप संचालक 15 नवंबर को करेंगे प्रदेशव्यापी हड़ताल

हिसार, 28 अक्टूबर  रवि पथ :

ऑल हरियाणा पैट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन की हिसार में आयोजित हुई मंडल स्तरीय मीटिंग में फैसला लिया गया कि मिलावटी तेल बेचने वालों पर हरियाणा सरकार ने एक सप्ताह में पूरी तरह शिकंजा नहीं कसा तो हरियाणा प्रदेश के पेट्रोल पंप डीलर 15 नवंबर को 24 घंटे की हड़ताल करेंगे। इस मुद्दे को लेकर हिसार जिला प्रधान राजकुमार सलेमगढ़ की अध्यक्षता में हुई मीटिंग में एसोसिशन के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार यादव (पप्पू यादव) एवं प्रदेश महासचिव मामन चंद गुप्ता ने कहा कि एक दिन की हड़ताल करने के बावजूद भी जिला प्रशासन द्वारा कुछ भी कार्यवाही नहीं की जाती है तो अनिश्चितकालीन हड़ताल का निर्णय लिया जा सकता है। इस मीटिंग में हिसार, सिरसा, फतेहाबाद, जींद, रोहतक, भिवानी और चरखी दादरी के जिला प्रधान और जिला सचिव ने हरियाणा प्रदेश में असली डीजल के नाम पर नकली मिलावटी तेल की हो रही बिक्री के बारे में भारी रोष प्रकट किया और हरियाणा सरकार से इस बिक्री को रुकवाने के बारे में प्रभावी कदम उठवाने की मांग की। मीटिंग में प्रदेश महासचिव गुप्ता ने कहा कि नकली मिलावटी तेल की बिक्री पर रोक लगवाने बारे भारत सरकार और हरियाणा सरकार को काफी पत्राचार किए गए, लेकिन कोई भी ठोस कार्रवाई नहीं की गई।
हिसार के जिला प्रधान राजकुमार सलेमगढ़, वरिष्ठ उप प्रधान पवन गोयल, जिला सचिव अजय खरिन्टा सहित सभी डीलर प्रतिनिधियों ने कहा कि हरियाणा में जिला प्रशासन की नाक के नीचे आए दिन कोई ना कोई गोदाम तैयार होते रहते है, जहां से तेल की सप्लाई विभिन्न स्थानों पर भेजी जाती है जो ज्यादातर वाहनों में डालने के लिए ही भेजी जाती है। गोदामों से नकली तेल की बिक्री होने से जहां पेट्रोल पंपों पर डीजल की बिक्री घटने से सरकार को और डीलर को आर्थिक नुकसान हो रहा है, वहीं वाहनों के इंजन भी खराब होकर प्रदूषण फैला रहे है। प्रदेश महासचिव गुप्ता ने कहा कि केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार 1 अप्रैल 2020 के बाद बीएस-वीआई के मानकों के अतिरिक्त अन्य किसी भी प्रकार के ऑटो फ्यूल के इस्तेमाल पर पाबन्दी लगी हुई है। जिला प्रधान राजकुमार सलेमगढ़ और जिला सचिव अजय खरिन्टा ने प्रशासन से मांग कि है कि गोदामों पर हर रोज छापे मारकर गोदाम मालिकों से लिखित में लिया जाए कि हर रोज हजारों लीटर तेल किन – किन लोगों को बेचते है और फिर उन लोगों से लिखित में लिया जाए वे हर रोज हजारों लीटर तेल का क्या करते है। इस प्रकार की कार्यवाही से सब पर्दाफाश हो जाएगा। सलेमगढ ने कहा कि यदि इस अवैध तेल की बिक्री को न रोका गया तो पूरे प्रदेश के पैट्रोल पम्प डीलर 15 नवंबर को हड़ताल पर चले जाएंगे, जिसकी पूरी जिम्मेवारी सरकार की होगी।