ना सैंपलिंग ना टेस्टिंग ! कर्मचारियों की कमी के कारण सिस्टम लाचार, कोविड कर्मचारियों के धरने का एक महीना पूरा

ना सैंपलिंग ना टेस्टिंग ! कर्मचारियों की कमी के कारण सिस्टम लाचार, कोविड कर्मचारियों के धरने का एक महीना पूरा

रवि पथ न्यूज़ :

नागरिक अस्पताल हिसार में नौकरी से हटाए गए कोरोना वारियर्स का धरना आज एक महीना पूरा कर गया सरकार की उदासीनता के कारण धरने पर बैठे हुए कर्मचारी अपनी लड़ाई को जारी रखे हुए हैं वही करोना की चौथी लहर की आहट होने के बावजूद जिले में कोरोना सैंपलिंग , टेस्टिंग की रफ्तार बहुत धीमी पड़ी हुई है । कोरोनो की पिछली तीन लहरों में इन्हीं करोना योद्धाओं ने जिला हिसार में कोरोना सेंपलिंग कांटेक्ट टरेसिंग क कोरोना टेस्टिंग ,वैक्सीनशन की लगभग सारी जिम्मेवारी उठाई थी । 1 अप्रैल को आउटसोर्सिंग पॉलिसी खत्म होने के कारण इन कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया और हरियाणा कौशल रोजगार निगम में रजिस्टर ना होने के कारण यह कर्मचारी पिछले 30 दिनों से आंदोलनरत है। स्वास्थ्य कर्मचारी संघ हरियाणा संबंधित भारतीय मजदूर संघ के जिला कमेटी के उपप्रधान पूनम राणा ने धरने की अध्यक्षता की उनके साथ सह सचिव ज्योति जी भी कर्मचारियों के बीच मौजूद रहे। और उन्होंने सरकार से अपील करी की कोरोनो की मौजूदा हालात को देखते हुए और जनहित का ध्यान रखते हुए इनका रोजगार वापस किया जाए