वंचित वर्गो के लिए शिक्षा सबसे बड़ा हथियार : राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा

वंचित वर्गो के लिए शिक्षा सबसे बड़ा हथियार : राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा

भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर के 66वें परिनिर्वाण दिवस पर समारोह आयोजित

हिसार, 05 दिसंबर  रवि पथ :

भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर के 66वें परिनिर्वाण दिवस पर रविवार को संत कबीर छात्रावास में एक समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा मुख्यातिथि के रूप में मौजूद रहे। समारोह की अध्यक्षता रतिया के विधायक लक्ष्मण सिंह नापा ने की। समारोह में हिसार के विधायक डॉ. कमल गुप्ता, मेयर गौतम सरदाना, भाजपा जिला अध्यक्ष कैप्टन भूपेन्द्र वीर चक्र, सीनियर डिप्टी मेयर अनिल मानी विशेष रूप से उपस्थित थे।
अपने संबोधन मेें राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा ने कहा कि बाबा साहेब ने दुनिया का बेहतरीन संविधान दिया। उन्होंने संविधान में प्रत्येक वर्ग के लिए व्यवस्था कर सामाजिक उत्थान का काम किया। उनके द्वारा दिए गए अच्छी शिक्षा, आपसी एकता व संघर्ष करने के मूल मंत्र पर चलकर समस्त समाज विशेषकर वंचित वर्ग को आगे बढऩे के अवसर मिलें। राज्यसभा सांसद ने कहा कि शिक्षा के बिना कोई भी समाज आगे नहीं बढ सकता इसलिए वंचित वर्गो के लिए शिक्षा सबसे बड़ा हथियार है। सांसद ने छात्रावास में कमरों के निर्माण हेतु 21 लाख रूपये अनुदान देने की भी घोषणा की। उन्होंने संत कबीर छात्रावास में विद्यार्थियों के लिए बनाए जाने वाले कमरों का भी शिलान्यास किया।
अपने संबोधन मेें विधायक डॉ. कमल गुप्ता ने कहा कि बाबा साहेब एक ऐसी शख्सियत थे जिनके जीवन की प्रत्येक घटना से काफी कुछ सीखने को मिलता है। वर्तमान केन्द्र व प्रदेश सरकार ने उनकी सोच को सार्थक करते हुए अनेक ऐतिहासिक योजनाओं व कार्यक्रमों को लागू किया है, जिनसे वंचित वर्गों के जीवन में सामाजिक व आर्थिक बदलाव आए है। मेयर गौतम सरदाना ने समारोह के दौरान संस्था की तरफ से रखी गई मांग पर फव्वारा चौक से गंगवा तक की सडक़ का नाम संत कबीर मार्ग करने की घोषणा की। रतिया के विधायक लक्ष्मण सिंह नापा ने अपने संबोधन में उपस्थित जनों से आहन किया कि वे बाबा साहेब के दिखाए मार्ग पर चले और राष्टï्र की उन्नति में अपना योगदान दें।
इस अवसर पर सेवानिवृत आईजी डॉ. दलबीर भारती, सेवानिवृत पुलिस अधीक्षक पूर्ण चंद पंवार, डॉ. उमेद खन्ना, सतीश सुरलिया, संस्था के प्रधान रोशन लाल, संरक्षक जोगीराम खुडिया, कैप्टन तुलाराम, अत्तर सिंह सुरलिया, पूर्व प्रधान रतन कुमार बडग़ुज्जर, प्रवक्ता सुंदर नागर भी उपस्थित थे।