हरियाणा में अघोषित बिजली कट लगने पर SDO, JE और शिफ्ट इंचार्ज होंगे चार्जशीट, सरकार ने लिया फैसला

हरियाणा में अघोषित बिजली कट लगने पर SDO, JE और शिफ्ट इंचार्ज होंगे चार्जशीट, सरकार ने लिया फैसला

रवि पथ :

हरियाणा में बिजली महकमे ने अब कमर कस ली है। अब बिजली निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों पर सख्ती की तैयारी है। जिसके चलते अघोषित बिजली कट लगने पर इलाके के एसडीओ, जेई और शिफ्ट इंजार्ज जिम्मेदार होंगे और उनपर कार्रवाई की जाएगी।

प्रदेश सरकार ने अधिकारियों को बिजली के कट न लगाने के निर्देश दिया है। सरकार ने कहा है कि यदि बिजली के लिए आंदोलन या प्रदर्शन होते हैं तो इसकी जिम्मेदारी संबंधित एसडीओ, जेई और शिफ्ट अटेंडेंट की होगी। उन्हें चार्जशीट किया जाएगा।

हरियाणा में बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि राज्य के लिए बिजली के क्षेत्र में एक जुलाई का अहम दिन रहा है। इस दिन राज्य के गठन के बाद से अब तक सबसे अधिक बिजली की खपत और अधिकतम लोड दर्ज किया गया है।

बिजली मंत्री ने बताया कि हरियाणा के गठन के बाद से पहली बार राज्यमें 2576.88 एलयू (लाख यूनिट) रिकॉर्ड बिजली की खपत हुई है, जबकि 11732 मेगावाट का लोड दर्ज किया है। इसके साथ ही गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष गुरुग्राम में बिजली की मांग में 34 फ़ीसदी का इजाफा हुआ है।

उन्होंने बताया कि पिछले साल गुरुग्राम में अधिकतम मांग 1147 मेगावाट थी, जोकि कल 1534 मेगावाट थी। उन्होंने कहा कि हरियाणा में बिजली की कोई कटौती नहीं है और बिना किसी रूकावट के निर्धारित समय के अनुसार लोगों को बिजली की आपूर्ति की जा रही है।।