सदैव खुशहाल रहने का संदेश देते हैं फूल, मन को मिलती है शांति : श्रीमति संतोष कुमारी

सदैव खुशहाल रहने का संदेश देते हैं फूल, मन को मिलती है शांति : श्रीमति संतोष कुमारी

एचएयू के एग्री टूरिज्म सेंटर व बोटेनिकल गार्डन में गुलदाउदी फूलों का शो शुरू

हिसार  21 दिसंबर  रवि पथ :

जिस प्रकार फूल स्वयं खिलकर दूसरों को सुगंध प्रदान करते हुए सदैव खुश रहने का संदेश देते हैं ठीक उसी प्रकार हमें भी हमेशा जीवन में खुश रहना चाहिए। विपरित परिस्थितियों में भी संयम बरतते हुए आगे बढऩा चाहिए और जीवन में कभी हताश नहीं होना चाहिए। ये विचार चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार के कुलपति की धर्मपत्नी एवं विश्वविद्यालय की प्रथम महिला संतोष कुमारी ने व्यक्त किए। वे विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती द्वार के नजदीक स्थित एग्री टूरिज्म सेंटर व बोटेनिकल गार्डन में आम जन के लिए आयोजित गुलदाउदी फूलों के शो के शुभारंभ अवसर पर बतौर मुख्यातिथि बोल रही थी। उन्होंने कहा कि जीवन में उतार-चढ़ाव सामान्य बात है, लेकिन स्वयं को इतना मजबूत बनाना चाहिए कि विपरित परिस्थितियों में भी हम सामान्य की तरह व्यवहार करें और अपने लक्ष्य से पथ भ्रमित न हों। खिले हुए फूलों को निहारने से मन को अपार शांति मिलती है और मानसिक परेशानियां भी दूर होती हैं। सुबह-सुबह फूलों को देखने से सारा दिन अच्छा गुजरता है और नई ऊर्जा व सकारात्मक सोच उत्पन होती है। कार्यक्रम का आयोजन एग्री टूरिज्म सेंटर, वनस्पति एवं पादप विज्ञान विभाग, एचएयू सामाजिक कल्याण सोसायटी और भू-दृश्य इकाई सरंचना के सहयोग से किया जा रहा है जिसमें भारतीय स्टेट बैंक का भी विशेष सहयोग है।

मनमोहक नजारे का लुत्फ उठा रहे हैं लोग, सैंकड़ों प्रजाति के फूल बढ़ा रहे हैं शोभा
मौलिक विज्ञान एवं मानविकी महाविद्यालय के वनस्पति एवं पादप विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ. के.डी. शर्मा ने बताया कि इस फ्लावर शो के मनमोहक नजारे का लुत्फ उठाने के लिए शहरवासी बढ़-चढक़र हिस्सा ले रहे हैं । इस फ्लॉवर शो में सैंकड़ों किस्म की फूलों की प्रजातियां शोभा बढ़ा रही हैं। लोगों का रूझान बहुत ज्यादा है। आम जनता के लिए प्रात: 9 बजे से सांय 5 बजकर 30 मिनट तक एग्री टूरिज्म सेंटर को खोला जाएगा जिसमें तीन दिन तक लोग हिस्सा ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि 21 दिसंबर से 23 दिसंबर तक यह शो चलेगा जिसमें विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। इसके बाद 24 दिसंबर से फूलों की बिक्री की जाएगी जिसमें लोग मनपसंद के फूलों की खरीदारी भी कर सकेंगे। कार्यक्रम में विजेता प्रतिभागियों को शो के समापन अवसर पर सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस दौरान स्कूल व कॉलेज विद्यार्थियों के लिए अलग-अलग मेहंदी रचाओ प्रतियोगिता होगी। ऑन स्पॉट ड्राइंग एवं पेंटिंग प्रतियोगिता भी होगी जिसमें जूनियर गु्रप(7 से 12 वर्ष), सीनियर गु्रप (12 से 17 वर्ष) और कॉलेज गु्रप शामिल किए जाएंगे। साथ ही पौधों के लिए व्यक्तिगत स्पर्धा होगी जिसमें गमले में लगे गुलदाउदी, पत्ते वाले, गेंदे, फे्रश फ्लॉवर सजाना आदि होगा। रंगोली प्रतियोगिता मेेंं स्कूल व कॉलेज के दो गु्रप बनाए जाएंगे। इन सबके लिए पंजीकरण नि:शुल्क होगा। इस अवसर पर सभी महाविद्यालयों के अधिष्ठात, निदेशक, विभागाध्यक्ष एवं शहरवासी मौजूद रहे।