जैव विविधता का संरक्षण एवं संवर्धन जरूरी : उपायुक्त

July 30, 2021

जैव विविधता का संरक्षण एवं संवर्धन जरूरी : उपायुक्त

हिसार, 30 जुलाई  रवि  पथ ::

उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी की अध्यक्षता में शुक्रवार को स्थानीय वीडियो कॉन्फ्रेंस सभागार में जैव विविधता के संरक्षण एवं संवर्धन बारे एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में माटी संगठन देहरादून के प्रतिनिधियों सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।
माटी संगठन देहरादून की प्रतिनिधि प्रभारी डॉ अंकीता ने बताया कि जिला हिसार में उनके संगठन द्वारा जैव विविधता प्रबंधन को लेकर कार्य किया जा रहा है। संगठन का मुख्य उद्देश्य जिले के प्रत्येक गांव में खाली पड़ी भूमि पर जैव विविधता के संरक्षण एवं संवर्धन का विस्तार करना हैं। उन्होंने बताया कि संगठन द्वारा जिले के असरावा, डोभी, न्यौली कलां, चौधरीवास सहित विभिन्न गांवों में जैव विविधता स्थल चिन्हित करके कार्यवाही शुरू की जा चुकी है। जैव विविधता के माध्यम से जंगल (बीड़), पुराने वृक्ष, जाल, रोहिड़ा, जंगली बुई, तुम्बा, मेडिसन प्लांट, विभिन्न प्रकार का घास, जोहड़, तालाब आदि को चिन्हित करने का कार्य की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने बताया कि संगठन द्वारा जिले के प्रत्येक गांव में खाली पड़ी भूमि को चिन्हित करके जैव विविधता का विस्तार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि संगठन द्वारा जिले की लोक जैव विविधता पर एक पुस्तक भी लिखी जाएगी।


उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी ने माटी संगठन देहरादून द्वारा जैव विविधता के विस्तार को लेकर की जा रही कार्यवाही की प्रशंसा की। उन्होंने जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी बलजीत सिंह चहल को निर्देश दिए कि प्रत्येक गांव में ग्राम सचिव संगठन की टीम के साथ तालमेल स्थापित करके की जाने वाली गतिविधियों में उनका पूरा सहयोग करें। इस अवसर पर माटी संगठन देहरादून की प्रभारी डॉ अंकिता, डॉ वेदप्रकाश, ऑइंद्रीला, प्रतीक्षा, अनुप्रिया, दिपशीखा, ममता के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।