कोरोना काल की विपरित परिस्थितियों में उद्यमियों को प्रोत्साहन देकर रोजगार सृजित करेगी राज्य सरकार

कोरोना काल की विपरित परिस्थितियों में उद्यमियों को प्रोत्साहन देकर रोजगार सृजित करेगी राज्य सरकार

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण योजना के तहत उद्यमियों से आवेदन आमंत्रित

हिसार, 04 जून  रवि पथ :

हरियाणा सरकार द्वारा विकास और स्वाबलंबन के अपने संकल्प के तहत खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों को बढ़ावा देने की दिशा में निरंतर कार्य किया जा रहा है। सरकार का मकसद कोरोना काल की विपरित परिस्थितियों में अधिक से अधिक उद्यमियों को प्रोत्साहन देकर खाद्य उद्यमों को बढ़ावा देना और रोजगार सृजित करना है। इसी कड़ी में हरियाणा में नवगठित एमएसएमई विभाग की ओर से प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण योजना के तहत उद्यम स्थापित करने के लिए उद्यमियों से आवेदन मांगे गए हैं। एक करोड़ की परियोजना की लागत तक के सुक्ष्म उद्यम इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकते है।
जिला एमएसएमई केन्द्र के उपनिदेशक गुरप्रताप सिंह ने बताया कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत असंगठित क्षेत्र व इंफॉर्मल रूप में कार्य कर रही खाद्य प्रसंस्करण सूक्ष्म इकाइयों को बढ़ावा देने के लिए खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा प्रधानमंत्री सूक्ष्म उद्योग उन्नयन योजना (पीएमएफएमई) आरंभ की गई है। इसके तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 से 2024-25 के कार्यकाल के दौरान 2 लाख सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्यमों को फॉर्मल सेक्टर में लाने के लिए 10,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इस योजना के अंतर्गत अधिकतम 10 लाख रुपये तक की अनुदान सहायता से परियोजना लागत के 35 प्रतिशत क्रेडिट लिंक्ड अनुदान सहायता का प्रावधान किया गया है। सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण योजना के तहत फल एवं सब्जी प्रसंस्करण, डेयरी, बेकरी प्रसंस्करण, मिष्ठान प्रसंस्करण, अनाज प्रसंस्करण, मसाले प्रसंस्करण, वृक्षारोपण प्रसंस्करण, मछली एवं समुद्री प्रसंस्करण, वसा तेल बीज प्रसंस्करण, मांस एवं पोल्ट्री प्रसंस्करण, लघु वन उत्पाद प्रसंस्करण आदि उद्यम स्थापित किए जा सकेंगे।


उपनिदेशक गुरप्रताप सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री सूक्ष्म उद्योग उन्नयन योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक का 18 वर्ष से अधिक का होना आवश्यक है और वह कम से कम 8वीं कक्षा की शैक्षणिक योग्यता अवश्य रखता हो। वित्तीय सहायता प्राप्त करने के लिए एक परिवार से केवल एक व्यक्ति पात्र होगा। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत नया उद्यम स्थापित करने या फिर पुराने उद्यम में ही प्रसंस्करण इकाई स्थापित करने के इच्छुक उद्यमी डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट एमओएफपीआई डॉट एनआइसी डॉट आइएन (222.द्वशद्घश्चद्ब.ठ्ठद्बष्.द्बठ्ठ) पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इच्छुक प्रार्थी अन्य किसी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए मोबाइल फोन नंबर 79882-85395 पर संपर्क कर जानकारी हासिल कर सकते हैं।