वालंटियर्स को प्लेटफॉर्म देगी सरकार – मनोहर लाल

वालंटियर्स को प्लेटफॉर्म देगी सरकार – मनोहर लाल

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आवश्यक व्यवस्थाएं पूरी करने के दिये निर्देश

चण्डीगढ 2 जुलाई रवि पथ –

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि निस्वार्थ भाव से समाजसेवा करने के इच्छुक लोगों के लिए सरकारी स्तर पर प्लेटफार्म प्रदान किया जाएगा ताकि उनका सहयोग लेकर व्यवस्थाओं में और सुधार लाया जा सके। मुख्यमंत्री आज यहां इस संबंध में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज में ऐसे बहुत से लोग हैं जो समाज के लिए स्वेच्छा से काम करना चाहते हैं और उन्हें इसके बदले में किसी चीज की चाह या आवश्यकता नहीं है। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि ऐसे लोगों के लिए वॉलिंटियर सेवा देने हेतू प्लेटफार्म तैयार करने की सभी आवश्यक औपचारिकताएँ जल्द से जल्द से पूरी करें। उन्होंने कहा कि समाज के बहुत से ऐसे सेवानिवृत व्यक्ति हैं जो समाज के लिए कुछ करना चाहते हैं, इनके अनुभवों का लाभ उठाते हुए कार्य योजना तैयार की जानी बेहद आवश्यक है। इससे न केवल समाज का भला होगा बल्कि इन अनुभवी लोगों को भी आत्मसंतुष्टि होगी।
मुख्यमंत्री ने इजराईल के येरूशलम का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पर 5 हजार से अधिक लोग एम्बुबाइक सेवा से जुड़े हुए हैं। ये सभी किसी भी समय आपात सेवाएं देने के लिए तैयार रहते हैं। जैसे ही इनके मोबाईल में बजता है तो ये तत्काल दुर्घटना स्थल पर एम्बुबाइक लेकर पहुंच जाते हैं और घायलों की मदद करते हैं। उसमें उन्हें प्राथमिक उपचार देना एवं अस्पताल पहुंचना आदि शामिल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में समर्पण भाव से सेवा करने वाले लोगों के लिए इसी प्रकार से मंच प्रदान करना अति आवश्यक है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस संबंध में जल्द से जल्द आवश्यक योजना का खाका तैयार करें।


मुख्यमंत्री ने कहा कि दुर्गा शक्ति ऐप एवं डायल 112 सुविधाएं भी हालांकि आपात स्थिति में सहयोग के लिए हैं लेकिन समाज का एक बहुत बड़ा वर्ग ऐसा है जो सरकारी सेवा में नहीं है और वह समाज को सेवा देना चाहता है। उन्होंने कहा कि लोगों में यह भाव जगना चाहिए कि मैं समाज को क्या दूंगा ।
बैठक में विदेश सहयोग विभाग के प्रधान सचिव एवं रिसोर्स मोबलाईजेशन सलाहकार योगेन्द्र चौधरी ने विस्तार से इस प्रोजैक्ट के बारे में जानकारी दी और बताया कि कोविड महामारी के दौरान सेवा के लिए आगे आते हुए प्रदेश के 89680 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी एस ढेसी, एसीएस श्री वी एस कुण्डु, प्रधान सचिव श्री ए के सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी उमाशंकर, अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. अमित अग्रवाल, उप प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़ सहित कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।