बीबीएमबी के नियमों में बदलाव करने पर अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को लिखा पत्र

बीबीएमबी के नियमों में बदलाव करने पर अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को लिखा पत्र

मेंबरों की संख्या पर योग्यताओं में बदलाव के बाद बोर्ड की मैनेजमेंट में हरियाणा के हितों के साथ खिलवाड़ होना लाजिमी है

हरियाणा के लिए पानी एक अहम् मुद्दा है इसलिए वर्तमान व्यवस्था के साथ छेड़छाड़ करना ठीक नहीं

आश्वासन दिया कि नियमों में किए गए बदलाव को रद्द करवाने के मुद्दे पर इनेलो पार्टी मुख्यमंत्री के साथ पूर्ण सहयोग करेगी

चंडीगढ़, 7 मार्च  रवि पथ :

भाजपा की केंद्र सरकार द्वारा बीबीएमबी नियम 1974 में संशोधन कर संशोधित नियम 2022 लागू करने पर इनेलो प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पत्र लिखा। पत्र में उन्होंने कहा कि बीबीएमबी की संचालन व्यवस्था ठीक चल रही थी जिसमें हरियाणा और पंजाब को स्थायी प्रतिनिधित्व दिया गया था। लेकिन भाजपा की केंद्र सरकार ने स्थायी सदस्यों की भर्ती में योग्यता के नियमों में बदलाव कर स्थायी प्रतिनिधित्व समाप्त कर दिया है जो कि हरियाणा के हितों के विरुद्ध है। सरकार की तरफ से यह स्पष्टीकरण दिया गया है कि हरियाणा का एक मेंबर इस बोर्ड में बना रहेगा लेकिन मेंबरों की संख्या पर योग्यताओं में बदलाव के बाद बोर्ड की मैनेजमेंट में हरियाणा के हितों के साथ खिलवाड़ होना लाजिमी है।
उन्होंने कहा कि जो योग्यताएं तकनीकी सदस्यों के लिए निर्धारित की गई है वह संभवत: हरियाणा के अभियंताओं के पास उपलब्ध न होने की वजह से नियुक्ति बाहर के राज्यों से की जाएगी। वर्तमान में हरियाणा का एक तकनीकी मेंबर सिंचाई विभाग की तरफ से निश्चित किया हुआ है। अब इन नियमों में बदलाव करने के बाद पुरानी व्यवस्था लागू नहीं रहेगी जिस कारण उपलब्ध पानी के बंटवारे को लेकर नया विवाद खड़ा हो जाएगा तथा उपलब्ध पानी के बंटवारे को सुनिश्चित करना कठिन हो जाएगा। हरियाणा के लिए पानी एक अहम् मुद्दा है इसलिए वर्तमान व्यवस्था के साथ छेड़छाड़ करना हरियाणा के हितों के साथ खिलवाड़ करना होगा। पत्र में मांग की गई कि मुख्यमंत्री इस मसले बारे हरियाणा के हितों की रक्षा के लिए केंंद्र सरकार से बात करे। उन्होंने आश्वासन दिया कि नियमों में किए गए बदलाव को रद्द करवाने के मुद्दे पर इनेलो पार्टी मुख्यमंत्री के साथ पूर्ण सहयोग करेगी।