विधायक पद की शपथ लेने के बाद अभय चौटाला ने फिर से इस्तीफा देने की बात कही, हुड्डा पर साधा निशाना।

विधायक पद की शपथ लेने के बाद अभय चौटाला ने फिर से इस्तीफा देने की बात कही, हुड्डा पर साधा निशाना।

8 नवंबर 2021 चंडीगढ़   रवि पथ :

विधायक पद की शपल लेने के बाद अभय सिंह चौटाला ने इस्तीफे को लेकर एक बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही बॉर्डरों पर जाकर किसानों से मिलेंगे और अगर वहां कि किसान जत्थेबंदियां कहती हैं कि तीन कृषि कानून रद्द हों, इसके लिए आप दोबारा इस्तीफा दें तो मैं इस बात से न हिचकिचा कर एक बार फिर विधायक पद से इस्तीफा दे दूंगा।

इसके साथ उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर जमकर निशाना साधा। अभय चौटाला ने कहा कि ऐलनाबाद उपचुनाव सता पक्ष और विपक्ष मिलकर लड़ रहे थे। उन्होंने कहा कि मैं पहले भी कई बार कह चुका हूं कि भूपेंद्र हुड्डा भाजपा के इशारे पर चलने वाला व्यक्ति है। राज्यसभा चुनाव में भूपेंद्र हुड्डा ने भाजपा की मदद की थी और सुभाष चंद्रा को सांसद बनाया था। इसके बाद हुड्डा ने अपने बेटे को सांसद बनाने के लिए भाजपा के साथ सांठ-गांठ की थी।

अभय चौटाला ने कहा कि ऐलनाबाद उपचुनाव में भाषण के दौरान भूपेंद्र हुड्डा ने कहा था कि वोट तो कांग्रेस के लिए मांगने आया हूं, लेकिन गोपाल कांडा मेरा मित्र है। इसका सीधा मतलब है कि गोबिंद के पक्ष में मत किया जाए। उन्होंने कहा जहां भूपेंद्र हुड्डा ने मदद की, वहीं उनके साथ कांग्रेस के कई अन्य नेताओं ने भी भाजपा की मदद की।

अभय ने कहा कि पिछली बार कांग्रेस के उम्मीदवार को 35 हजार वोट मिले थे, लेकिन अबकी बार उसे 20 हजार वोट ही मिले। उसके 15 हजार वोट कम हो गए, ये 15 हजार वोट सीधे भाजपा को सिफ्ट हुए। भाजपा को जब यह वोट सिफ्ट हुआ तो उनके उम्मीदवार के वोट 45 हजार से 60 हजार पहुंच गए। मतलब अबकी बार सारी पार्टियां इस चुनाव को जीतना चाहती थी।