राष्ट्र निर्माण के प्रति समर्पित भाव ही राष्टï्र सेवा: राज्यपाल आचार्य देवव्रत स्थानीय दयानंद ब्रह्मïा महाविद्यालय में नवनिर्मित

राष्ट्र निर्माण के प्रति समर्पित भाव ही राष्टï्र सेवा: राज्यपाल आचार्य देवव्रत

स्थानीय दयानंद ब्रह्मïा महाविद्यालय में नवनिर्मित छात्रावास का किया लोकापर्ण

महाविद्यालय परिसर में अपने विद्यार्थी काल की यादें ताजा की, अपने अध्ययन कक्ष का दौरा किया

हिसार, 05 दिसंबर  रवि पथ :

गुजरात के महामहिम राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा है कि राष्टï्र की प्रगति के लिए हम सभी अपने दायित्वों का पूरी जिम्मेवारी से निर्वहन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि राष्टï्र निर्माण के प्रति समर्पित भाव असली राष्टï्र सेवा है। वे रविवार को स्थानीय दयानंद ब्रह्मïा महाविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम को बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने महाविद्यालय परिसर में 50 लाख रूपये की लागत से नवनिर्मित छात्रावास का लोकापर्ण किया और महाविद्यालय प्रांगण में लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि किसी भी समाज की समृद्घि के लिए शिक्षा का प्रचार-प्रसार करना अति आवश्यक है। इसके साथ-साथ जल संरक्षण, रक्तदान और समाज सेवा के व्यापक क्षेत्र में सकारात्मक भूमिका निभाने के लिए समाज के प्रबुद्घ नागरिकों को आगे आना चाहिए। गौरतलब है कि राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने वर्ष 1975 से 1978 तक इसी महाविद्यालय से शिक्षा प्राप्त की थी। महाविद्यालय परिसर में पंहुचने के पश्चात महामहिम ने उस कक्ष का भी अवलोकन किया, जिसमें वो अपने अध्ययन के दौरान रहा करते थे। उन्होंने बताया कि हमारे गांव से आए हुए चार-पांच संतों ने उन्हें बताया था कि अगर आप आर्य समाज का प्रचार-प्रसार करना चाहते हो तो हिसार स्थित दयानंद बह्मïा महाविद्यालय में अध्ययन करें। महामहिम राज्यपाल के महाविद्यालय परिसर में पंहुचने पर हरियाणा पुलिस की टुकड़ी द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। समारोह में पंहुचने पर उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी व डीआईजी बलवान सिंह राणा ने महामहिम का स्वागत किया।
डीएवी कॉलेज प्रबंधकत्र्री समिति एवं आर्य प्रादेशिक प्रतिनिधि सभा के प्रधान आर्यरत्न डॉ. पूनम पूरी ने महामहिम का स्वागत करते हुए संस्था के द्वारा किए जा रहे कार्यो का विस्तार से प्रकाश डाला। समारोह में बरवाला के एसडीएम राजेन्द्र कुमार, उप-पुलिस अधीक्षक प्रियांशु दिवान, महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. प्रमोद योगार्थी, प्रबंधक अजय बत्रा सहित विभिन्न शिक्षण संस्थाओं के प्राचार्य व अनेक शिक्षकगण भी उपस्थित थे।