झज्जर पुलिस ने किया नकली नोट चलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 47700 रुपए के नकली नोट बरामद

झज्जर पुलिस ने किया नकली नोट चलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 47700 रुपए के नकली नोट बरामद

सीआईए टू बहादुरगढ़ की टीम ने अलग-अलग स्थानों से किया तीन आरोपियों को गिरफ्तार

बहादुरगढ़ में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान डीएसपी अरविंद दहिया ने दी पकड़े गए आरोपियों के सम्बंध में विस्तृत जानकारी

बहादुरगढ़ रवि पथ :

झज्जर पुलिस की सीआईए टू बहादुरगढ़ की टीम द्वारा नकली करंसी नोटों के नेटवर्क का पर्दाफाश करते हुए अलग-अलग स्थानों से तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की गई है। गिरफ्त में आए आरोपियों से बड़ी संख्या में नकली करेंसी नोट बरामद हुए हैं। पकड़े गए आरोपियों को रिमांड पर लेकर तीनों से पूछताछ की जा रही है। बृहस्पतिवार को बहादुरगढ़ में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान नकली नोट चलाने वाले गिरोह के पकड़े गए आरोपियों के संबंध में डीएसपी झज्जर अरविंद दहिया ने विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि निरीक्षक मनोज कुमार के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए सीआईए टू बहादुरगढ़ की टीम द्वारा उपरोक्त गिरोह के तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की गई है। आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने तथा वांछित आरोपियों की धरपकड़ के संबंध में एसपी वसीम अकरम आईपीएस द्वारा किए गए दिशा निर्देशों की पालना करते हुए सीआईए टू बहादुरगढ़ की टीम द्वारा मुस्तैदी से कार्रवाई करते हुए नकली नोट चलाने वाले गिरोह के तीन आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल हुई है।
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डीएसपी अरविंद दहिया ने जानकारी देते हुए बताया कि निरीक्षक मनोज कुमार के मार्गदर्शन में सीआईए की एक टीम थाना सदर बहादुरगढ़ के एरिया में तैनात थी। सीआईए में तैनात सहायक उप निरीक्षक मनोज कुमार व मुख्य सिपाही सोमबीर की टीम द्वारा शक की बिना पर एक व्यक्ति को काबू किया गया। पकड़े गए व्यक्ति के कब्जे से मौका पर एक अवैध हथियार देशी पिस्तौल बरामद हुआ। देशी पिस्तौल के साथ पकड़े गए आरोपी की पहचान मनजीत पुत्र सतप्रकाश निवासी पंजाब खोड़ दिल्ली के तौर पर हुई। आरोपी ने प्राथमिक पूछताछ में नकली नोट होने बारे जानकारी दी। सीआईए की टीम द्वारा तत्परता से कार्यवाही करते हुए आरोपी की निशानदेही पर उसके कब्जे से 9500 रुपए बरामद किए। जिनमें 20 नोट 100,100 रुपए के तथा 15 नोट 500, 500 के थे। आरोपी से पूछताछ करने पर बरामद करेंसी नोट नकली होने बारे खुलासा हुआ। सीआईए की टीम द्वारा आरोपी मनजीत से नोटों के सोर्स बारे पूछताछ की गई तो उसने अपने एक साथी फारुखदीन निवासी गांव पिपली जिला सोनीपत से उपरोक्त नकली नोट लाने बारे खुलासा किया। अवैध हथियार व नकली नकली नोट मिलने के संबंध में कार्रवाई करते हुए थाना सदर बहादुरगढ़ में अपराधिक मामला दर्ज किया गया।
डीएसपी अरविंद दहिया ने बताया कि आरोपी से हुए खुलासे के पश्चात सीआईए की टीम द्वारा तत्परता से कार्रवाई करते हुए फारूकदीन निवासी पिपली जिला सोनीपत को काबू किया गया। पकड़े गए आरोपी के कब्जे से भी 38200 के नकली नोट बरामद हुए। जिनमें 61 नोट 500, 500 के तथा 77 नोट 100, 100 के शामिल हैं। कुल 47700 के नकली नोटों के साथ पकड़े गए उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए दोनों को माननीय अदालत बहादुरगढ़ में पेश किया गया। जहां से दोनों आरोपियों को पूछताछ के लिए 03 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया।
उन्होंने बताया कि गिरफ्त में आए आरोपी फारुखदीन से पूछताछ में नकली नोट सप्लाई करने एक अन्य आरोपी बारे खुलासा हुआ। जिससे फारुखदीन का सीधा संपर्क था और वह उसी से नकली करेंसी नोट लाया था। जिसके पश्चात सीआईए टू बहादुरगढ़ की टीम द्वारा तत्परता से कार्यवाही करते हुए मामले के तीसरे आरोपी इसरार निवासी गांव पांची जिला बागपत यूपी को गिरफ्तार किया गया। पकड़े गए आरोपी इसरार के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे अदालत में पेश किया गया। जहां से आरोपी को पूछताछ के लिए 02 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। गिरफ्त में आए मामले के तीसरे आरोपी इसरार से नकली नोटों की छपाई व सप्लाई के संबंध में पूछताछ जारी है। इस संबंध में जांच के दौरान पूछताछ में नकली नोटों के इस नेटवर्क के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल की जा रही है। जो भी इस नेटवर्क में संलिप्त पाया गया उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। नकली नोट चलाने वाले गिरोह के उपरोक्त तीनों आरोपियों से पूछताछ व मामले की जांच पड़ताल की कार्रवाई लगातार गंभीरता से जारी है।