यूएनडीएसएस के प्रतिनिधिमंडल ने डीजीपी हरियाणा से की मुलाकात

यूएनडीएसएस के प्रतिनिधिमंडल ने डीजीपी हरियाणा से की मुलाकात

चंडीगढ़, 13 जुलाई  रवि पथ –

यूनाइटेड नेशंस डिपार्टमेंट ऑफ सेफ्टी एंड सिक्योरिटी (भारत एवं भूटान) के पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने आज पंचकूला स्थित हरियाणा पुलिस मुख्यालय में पुलिस महानिदेशक (डीजीपी), हरियाणा श्री मनोज यादव के साथ शिष्टाचार भेंट की।
यूनाइटेड नेशंस डिपार्टमेंट ऑफ सेफ्टी एंड सिक्योरिटी (यूएनडीएसएस), के उप सुरक्षा सलाहकार, श्री विक्टर कोबियन के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश में संयुक्त राष्ट्र और विश्व स्वास्थ्य संगठन के विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन में पुलिस अथॉरिटीज से समन्वय, सहयोग और भविष्य के समर्थन को बढ़ाने संबंधी विचार-विमर्श किया।
बैठक के दौरान, डीजीपी ने प्रतिनिधिमंडल को हरियाणा पुलिस के ऐतिहासिक कदम से अवगत कराते हुए बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने 12 जुलाई को हरियाणा 112 – इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम (ईआरएसएस) की शुरुआत की है, जिसमें पुलिस, फायर और एम्बुलेंस से संबंधित सभी इमरजेंसी सेवाएं एकीकृत प्रणाली द्वारा केवल 112 नंबर डायल करने पर नागरिकों को 24 घंटे मिल सकेंगी। इस सिस्टम में अभी अंग्रेजी, हिंदी, पंजाबी और हरियाणवी जैसी चार स्थानीय भाषाओं में आने वाली कॉल को अटैंड करते हुए तुरंत पुलिस सहायता उपलब्ध कराने की सुविधा है। संकट के समय में जापानी, चीनी, फ्रेंच और स्पेनिश जैसी विदेशी भाषा के नागरिकों को भी तुरंत पुलिस सहायता उपलब्ध हो सके इसके लिए, हरियाणा 112 की टीम स्वैच्छिक तौर पर विदेशी भाषा बोलने वाले वालंटियरों को शामिल करने की योजना बना रही है।


इसके लिए विक्टर कोबियन, जो पेरू (लैटिन अमेरिका) के नागरिक और यूएनडीएसएस (भारत और भूटान) के मिशन लीडर हैं, ने स्वेच्छा से हरियाणा 112 परियोजना के लिए स्पेनिश भाषा के वालंटियर के तौर पर कार्य करने के लिए पेशकश की, जिससे वे इस महत्वकांक्षी योजना के तहत फर्स्ट वालंटियर बने।
बैठक में आईजीपी लॉ एंड ऑर्डर हरियाणा श्री संजय कुमार, राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारी यूएनडीएसएस, श्री दयानंद सिंघल, डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय प्रमुख, डॉ. श्रीनिवासन और यूएनडीपी हरियाणा के क्षेत्रीय प्रमुख श्री विकास भी उपस्थित थे।