विकास कार्यों की अनियमितता पर एक्सईएन पर निलंबन की कार्रवाई

विकास कार्यों की अनियमितता पर एक्सईएन पर निलंबन की कार्रवाई

बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने विकास कार्यों में विजिलेंस जांच करवाने के दिए निर्देश

जिला लोक संपर्क एवं जनपरिवाद समिति की बैठक में बिजली मंत्री ने की मामलों की सुनवाई

फतेहाबाद, 20 मई  रवि पथ :

हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने लोक निर्माण विभाग के तत्कालीन कार्यकारी अभियंता को निलंबित करने के आदेश देते हुए विकास कार्यों में अनियमितता की विजिलेंस जांच करने के आदेश दिए है। हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत सिंह शुक्रवार को जिला पंचायत संसाधन केंद्र में लोक संपर्क एवं जन परिवाद समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। जन परिवाद समिति की बैठक में कुल 18 मामलों की सुनवाई की गई। सुनवाई के दौरान बिजली मंत्री ने 9 मामलों का मौके पर निपटान किया और 6 परिवाद लंबित रख आगामी बैठक में रिपोर्ट सहित प्रस्तुत करने के निर्देश देते हुए 3 मामलों की जांच के आदेश जारी किए है।
कैबिनेट मंत्री रणजीत सिंह ने गांव ढाणी मियां खा के विनोद की शिकायत थी कि सडक़ निर्माण में अनियमितता बरती गई है और घटिया सामग्री का प्रयोग किया गया है। यह मामला पिछली बैठक में भी लंबित था। इस पर कार्यवाही करते हुए बिजली मंत्री ने तत्कालीन एक्सईएन जिसके कार्यकाल में यह निर्माण कार्य हुआ है उन्हें निलंबित करते हुए विजिलेंस जांच के आदेश दिए है। एक अन्य मामले में रोहताश पुत्र ओम प्रकाश निवासी भरपूर की शिकायत थी कि आंगनबाड़ी वर्कर बच्चों को राशन नहीं बांटते है, इस पर महिला एवं बाल विकास विभाग ने बताया कि शिकायतकर्ता नाम का कोई व्यक्ति गांव में रहता ही नहीं है और तथ्यों से परे हैं। इस पर कार्यवाही करते हुए बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने एडीसी को जांच सौंपते हुए कहा कि गांव भरपूर में पिछले छह माह में आंगनबाड़ी में बांटे गए राशन की रिपोर्ट अगली बैठक में प्रस्तुत करें। गांव खासा पठाना में शराब के ठेके स्कूल के पास होने की शिकायत रखी गई थी। इस पर बिजली मंत्री ने डीईटीसी को निर्देश दिए है कि शराब के ठेके पॉलिसी के अनुसार ही स्थापित किए जाए। अब नये शराब के ठेके छूटे है तो विभाग यह सुनिश्चित करें कि अस्पताल, स्कूल के पास ये ठेके न हो।
कैबिनेट मंत्री रणजीत सिंह ने गांव खान मोहम्मद के सरपंच अजय कुमार द्वारा फर्जी राशन कार्ड बनाने और मनमर्जी से राशन वितरित करने की शिकायत की सुनवाई करते हुए जांच करने के आदेश दिए है। गांव खान मोहम्मद के ही लोगों ने मौके पर सरपंच के खिलाफ भी आरोप लगाए। इस सभी मामले की जांच करने के आदेश देते हुए बिजली मंत्री ने कहा कि सरपंच के कार्यकाल की भी जांच करवाई जाए। चंडीगढ़ निवासी नरेश गुप्ता की शिकायत थी कि उसकी दुकान मिलीभगत करके बेच दी और सहकारी समिति विभाग के अधिकारी इसमें मिले हुए है। इस पर कार्यवाही करते हुए कैबिनेट मंत्री ने सहायक रजिस्ट्रार कॉ-ऑपरेटिव सोसायटी से रिपोर्ट तलब की, उन्होंने बताया कि इस मामले में विभागीय जांच हुई है। कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत की संलिप्ता प्रतीत होती है, उनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही के लिए लिखा हुआ है। इस पर बिजली मंत्री ने विभागीय कार्यवाही लंबित रहने के कारण मुख्यालय चंडीगढ़ में इस मामले को डिल कर रहे अधिकारी को अगली बैठक में रिपोर्ट सहित आने के निर्देश दिए है। वार्ड भूना के एमसी प्रवीण कुमार की शिकायत थी कि निर्माण कार्य में अनियमितता बरती गई है और धांधली बरती गई है। इस पर नपा भूना के सचिव ने बताया कि वार्ड के पार्षद को सभी प्रकार के बिलों और भौतिक सत्यापन करवाई गई है, इस पर कैबिनेट मंत्री ने शिकायत को लंबित रखते हुए अगली बैठक में शिकायतकर्ता के हाजिर होने के आदेश दिए है।
बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने सभी गांवों में पीने के पानी की समुचित सप्लाई के आदेश देते हुए जन स्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता को अगली बैठक में एक संतुति पत्र प्रस्तुत करने के आदेश दिए कि उसके अधीन क्षेत्र गांवों में पीने के पानी की समुचित सप्लाई करवाई जा रही है और गांव के किसी भी लोगों को कोई शिकायत नहीं है। इस अवसर पर फतेहाबाद के विधायक दुड़ाराम, भाजपा जिलाध्यक्ष बलदेव ग्रोहा, उपायुक्त प्रदीप कुमार, एसपी सुरेंद्र सिंह भोरिया, एसडीएम अनिल कुमार दूहन, सुभाष चंद्र, राजेश कुमार, सीटीएम सुरेश कुमार, जिप सीईओ कुलभूषण बंसल, आरटीए सचिव संजय बिश्रोई, जिप अतिरिक्त सीईओ अमित कुमार, जिप निवर्तमान अध्यक्ष राजेश कसवा, जन परिवाद समिति के सदस्य रमेश मेहता, राजेंद्र खारा खेड़ी, इंद्र कड़वासरा, अधीक्षण अभियंता ओपी बिश्रोई, डीआरओ हरि ओम अत्री, तहसीलदार रणविजय सिंह सुल्तानिया, डीडीपीओ बलजीत सिंह चहल, डीडीए डॉ. राजेश सिहाग, कार्यकारी अभियंता मनदीप बैनीवाल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कमेटी सदस्य मौजूद रहे।

हरियाणा के बिजली एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह ने कहा है कि जिला फतेहाबाद में जेल निर्माण की कार्यवाही प्रक्रिया में है। सरकार को कई जगह के प्रपोजल इस योजना के लिए प्राप्त हुए है, जो उपयोगी प्रपोजल होगा, उसको मंजूरी देकर जल्द ही जेल निर्माण की कार्यवाही शुरू की जाएगी। वे जिला लोक संपर्क एवं जन परिवाद समिति बैठक के उपरांत पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत कर रहे थे। बिजली मंत्री ने प्रदेश में बिजली के सुचारू होने का दावा किया और कहा कि उपभोक्ताओं को पर्याप्त मात्रा में बिजली उपलब्ध करवाई जा रही है। लोगों को बिजली निर्बाध मिलें, इसके लिए सरकार ने व्यवस्था की है।