ऐलनाबाद में किसानों की होगी जीत, तीनों काले कृषि कानून हर हालत में करने पड़ेंगे रद्द: अभय चौटाला

ऐलनाबाद में किसानों की होगी जीत, तीनों काले कृषि कानून हर हालत में करने पड़ेंगे रद्द: अभय चौटाला

सैंकड़ों की तादाद में लोगों का कांग्रेस ओर बीजेपी छोड़ कर इनेलो में शामिल होना रहा जारी

सिरसा  रवि पथ :

ऐलनाबाद उपचुनाव में इनेलो प्रत्याशी अभय सिंह चौटाला ने रविवार को गांव रूपाणा बिश्रोइयां, माखोसरानी, शक्करमंदौरी, गंजा रूपाणा, चाहरवाला, जोगीवाला, कागदाना, कुम्हारिया, जसानिया, गीगोरानी, शाहपुरिया, राजपुरिया साहनी सहित करीब दो दर्जन गांवों में जनसंपर्क अभियान चलाते हुए लोगों से किसान आंदोलन को और अधिक मजबूत करने के लिए अपने पक्ष में मतदान करने की अपील की। उपरोक्त गाँव में अभय सिंह चौटाला का जोरदार स्वागत किया गया तथा अनेक लोगो ने कांग्रेस ओर बीजेपी छोड़ कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की गयी, इसके अंतर्गत गाँव चाहरवाला में लगभग आधा दर्जन स्थानों पर समृति चिहन दे कर स्वागत किया गया तथा वजीर सिंह बिजारनिया और राम सिंह बिजारनिया ने अपने परिवार सहित कांग्रेस छोड़ कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की।
इस दौरान उपरोक्त गांवों में ग्रामीण जनसभाओं को संबोधित करते हुए इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि यदि केंद्र द्वारा बनाए गए तीनों कृषि कानून रद्द न किए गए तो देश पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा और देश की आर्थिक तरक्की पूरी तरह से ठप हो जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐलनाबाद उपचुनाव में मेरी जीत इस बात को भी सुनिश्चित करेगी कि किसान इन तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ हैं। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो चौधरी देवीलाल की नीतियों व सिद्धांतों पर चलने वाली पार्टी है और इन नीतियों में गरीब, मजदूर, किसान, व्यापारी, युवा सहित सभी वर्गों के हितों की सुरक्षा प्रमुख है। उन्होंने कहा कि यदि देश का किसान खुशहाल होगा तो देश भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तरक्की और खुशहाली के मार्ग पर दौड़ेगा। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा की गलत नीतियों का खामियाजा आज पूरा देश भुगत रहा है। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर का किसान पिछले 11 महीनों से ज्यादा समय से बॉर्डर पर बैठकर संघर्ष कर रहा है मगर भाजपा पूरी तरह से उदासीन बनी हुई है। इन 11 महीनों की अवधि के दौरान किसानों की स्थिति बेहद दयनीय बनी हुई है और किसानों के इस संघर्ष में इनेलो भी पहले ही दिन से उनके साथ खड़ी थी। उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी में केंद्रीय मंत्री के बेटे द्वारा किसानों को अपनी गाड़ी से कुचलने की घटना बेहद निंदनीय है और इसके लिए हत्यारोपियों को कठोर से कठोर दंड मिलना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के शासन में ही तीनों कृषि कानून बनाए गए थे मगर बहुमत न होने के कारण ये पारित नहीं हो सके, मगर आज कांग्रेस किसानों की हितैषी बनकर उनके वोट हथियाने का कुत्सित प्रयास कर रही है मगर ऐलनाबाद की जनता भाजपा और कांग्रेस दोनों को ही मुंह नहीं लगाएगी और उन्हें वोट की चोट से अपना जवाब देगी। इस मौके पर उनके साथ राजेश गोदारा, युवा जिला अध्यक्ष धर्मवीर नैन, हरपाल कासनिया, नरेश शाहपुरिया, जयवीर गोदारा, दयाराम सहारण, दिनेश बेनीवाल, अरविन्द शाश्त्री, राजेन्द्र बेनीवाल,भगत सिंह बेनीवाल, राजेन्द्र बरासरी उपस्थित थे।