ऐलनाबाद से विधायक अभय चौटाला ने काले कृषि कानूनों के खिलाफ अपने पद से दिया इस्तीफा

January 27, 2021

ऐलनाबाद से विधायक अभय चौटाला ने काले कृषि कानूनों के खिलाफ अपने पद से दिया इस्तीफा

विधानसभाध्यक्ष ने इस्तीफा किया मंजूर
उपचुनाव लडऩे का फैसला ऐलनाबाद क्षेत्र के लोग करेंगे

चंडीगढ़, 27 जनवरी रवि पथ :

इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी के ऐलनाबाद से विधायक अभय सिंह चौटाला ने बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता को विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। विधान सभा अध्यक्ष ने इस्तीफे की पुष्टि करते हुए कि उन्होंने अभय ङ्क्षसह चौटाला का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।
इनेलो नेता ने इस्तीफा देने के बाद प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश में किसान को अन्न्दाता माना जाता है और विडंबना यह है कि आज वही अन्नदाता अपने हकों के लिए माइनस डिग्री की ठंड में बैठकर धरना दे रहा है। आंदोलन कर रहे किसानों पर धारा 395, 397 और 120बी के तहत झुठे मुकदमे दर्ज किए गए हैं जिसका मतलब लूटपाट करना और साजिश करना है जो की किसान ऐसा कभी नहीं कर सकता। किसान शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहा था लेकिन किसानों को बदनाम करने के लिए भाजपा सरकार असामाजिक तत्वों को लेकर आई और अफवाह फैला दी जिस कारण युवा लाल किले पर पहुंच गया। भाजपा ने इसी तरह गुजरात में गोधरा कांड को अंजाम दिया था वैसे ही यहां पर दंगा करवाना चाहते थे। इनेलो नेता ने कहा कि देश में कोई एसा राज्य नहीं था जहां किसानों ने ट्रैक्टर मार्च न निकाला हो। उन्होंने कहा कि वो प्रधानमंत्री से पुन: आग्रह करते हैं कि उन्हें तुरंत बिलों को वापिस लेना चाहिए।


पत्रकार वार्ता में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि हमारी पार्टी चौधरी देवी लाल का लगाया हुआ पौधा है जिन्होंने बुढ़ापा सम्मान पेंशन योजना और खराब फसलों का मुआवजा देने की शुरुआत की थी। उन्होंने किसान के टै्रक्टर को टैक्स मुक्त करके गड्डा घोषित करवाया था और अनुसूचित जाति के लोगों के लिए चौपालों का निर्माण जैसे कल्याणकारी कार्य करवाए थे।
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि वो पूरे प्रदेश में अपने कार्यक्रम रखेंगे और ऐसे हलकों में जाएंगे जहां विधायकों ने कहा था कि वो किसानों के समर्थन में इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं। दोबारा से चुनाव लडऩे पर सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि उपचुनाव आएगा तो चुनाव लडऩे या नही लडऩे का फैसला ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के लोग करेंगे।