बलिदानियों का इतिहास छिपाने की दोषी है कांग्रेसः राज्यमंत्री ढांडा

बलिदानियों का इतिहास छिपाने की दोषी है कांग्रेसः राज्यमंत्री ढांडा

युवा देश की युवा पीढी का कांग्रेस के षडयंत्र से अवगत कराना समय की मांग

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के जिला प्रवास कार्यक्रम से ऑनलाइन जुडी राज्यमंत्री

राजौंद  रवि पथ :

महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि अंग्रेजी हुकूमत की तानाशाही से देश को आजादी दिलाने का माहौल बनाने में जिन लाखों, करोडों लोगों ने अपना बलिदान किया, उनको सम्मान देने की बजाय कांग्रेस उनका इतिहास छिपाने की गंभीर रूप से दोषी है। उन्होंने कहा कि आज समय आ गया है कि युवा देश की युवा पीढी कांग्रेस के षडयंत्र से अवगत हो।
वे विचार सोमवार को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड के जिला प्रवास कार्यक्रम में राजौंद के एसडीएम कालेज से राजौंद, कलायत, बालू व पूंडरी मंडल के ग्राम प्रमुख व वार्ड प्रमुख के साथ ऑनलाइन जुडी राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने रखे। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव में देश को अंग्रेजी हुकूमत से आजादी दिलाने में अपना बलिदान करने वाले गुमनाम नायकों को याद करने का बीडा उठाकर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड ने विशिष्ट प्रयास किया है। 23 जनवरी को किसान, जवान की धरती हरियाणा पर गांव-गांव, शहर-शहर में साढे सात हजार स्थानों 6 लाख लोग आजाद हिंद फौज के स्वतंत्रता सेनानियों को याद करेंगे।
महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि युवा देश की युवा पीढी को यह जानने का पूरा अधिकार है कि वो जिस खुली हवा में आज जी रहा है, उस आजादी के लिए लाखों, करोडों लोगों ने अपना जीवन बलिदान कर दिया है। उन्हें जानने का पूरा हक है कि उस आजादी को दिलाने के लिए किस प्रकार लोगों ने अपना घर, परिवार और देश तक छोडना पडा। उन्होंने कहा कि हमें नहीं भूलना चाहिए कि हमारी आजादी के महानायक नेता जी सुभाष चंद्र बोस और उनकी विचारधारा पर गली-कूचों से एक आवाज बनकर वो मुहिम बनी, जिसका डंका पूरे संसार में बजा। आजादी का तराना गाते हुए लाखों गुमनाम नायकों का केवल एक ही लक्ष्य था और वो लक्ष्य था आजादी। अंग्रेजों की गुलामी से आजादी। उन्होंने कहा कि हम सभी के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है कि जिन्होंने देश को आजादी दिलाई और बलिदान हुए, उनसे आज भी देश का बच्चा-बच्चा वाकिफ नहीं है, क्योंकि कांग्रेस ने इन बलिदानियों का इतिहास जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा-राजीव गांधी के पीछे छिपा दिया। देश की आजादी के बाद कांग्रेस ने इन गुमनाम नायकों को भुलाने का षडयंत्र रचा और इसमें काफी हद तक कामयाब रहे।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस की इस अंधेरगर्दी के बाद एक उजाला वर्ष 2014 में हुआ, जब भारतीय राजनीति में देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बने। उनके द्वारा बलिदानियों को स्मरण करने के लिए आजादी के अमृत महोत्सव अभियान का आगाज किया गया है। आज भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड 23 जनवरी को सभी भुला दिए गए बलिदानियों के नाम उजागर कर प्रदेश के कोने-कोने, बच्चे-बच्चे तक यह नाम पहुंचाने का संकल्प ले चुके हैं। हम सभी कार्यकर्ताओं को इस आयोजन के माध्यम से बलिदानियों और शहीदों के सम्मान में अपना शत-प्रतिशत योगदान देना है। इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य जसवंत पठानिया, भाजपा जिला प्रभारी वेद फुल्लां, भाजयुमो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य तुषार ढांडा, किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष संजीव राणा, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष अनीता चौधरी, मंडल अध्यक्ष कपिल दीक्षित, महिपाल राणा, डॉ मदन मटौर सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी मौजूद रहे।