उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक ने हलदाना बार्डर से कुंंडली बार्डर तक किया राष्ट्रीय राजमार्ग का दौरा

उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक ने हलदाना बार्डर से कुंंडली बार्डर तक किया राष्ट्रीय राजमार्ग का दौरा

राष्ट्रीय राजमार्ग-44 को सुगमता से संचालित रखने को लेकर दिए जरूरी दिशा-निर्देश

सोनीपत, 24 नवंबर रवि पथ :

उपायुक्त श्याम लाल पूनिया व पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह रंधावा ने मंगलवार को हलदाना बार्डर से लेकर कुंडली बार्डर तक राष्ट्रीय राजमार्ग-44 का दौरा करते हुए पुलिस अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने विशेष रूप से ट्रैफिक डायवर्जन तथा राष्ट्रीय राजमार्ग के सुचारू संचालन और किसानों को ठहराये जाने को लेकर विस्तार से पड़ताल की।
राष्ट्रीय राजमार्ग के दौरे की शुरुआत हलदाना बार्डर से की गई। इसके उपरांत उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक रक्सेड़ा मोड़ पर रूके, जहां से बाहरी स्थानों से आने वाले वाहनों को वापस भेजने को लेकर चर्चा की गई। इसके आगे बढ़ते हुए गन्नौर फ्लाईओवर के नीचे रूकते हुए विभिन्न संभावनाओं पर विचार-विमर्श किया गया। अंदरूनी मार्गों पर चर्चा करते हुए उन्होंने गन्नौर शहर का रूख किया और देवीलाल चौक पर पहुंचकर विस्तार से मंथन किया। यहां से वापस राष्ट्रीय राजमार्ग पर आगे बढ़ते हुए अंतर्राष्ट्रीय बागवानी मार्केट का जायजा लिया। आवश्यकता पडऩे पर मार्केट परिसर में किसानों को ठहराने को लेकर चर्चा की गई।
यहां से आगे बढ़तेे हुए उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक ने मुरथल अड्डा चौक पर ठहराव किया। वहां से आगे बढ़ते हुए आवासीय सोसायटी एपेक्स ग्रीन के समक्ष रूकते हुए बहालगढ़ चौक पर रूके। वहां से आगे बढ़ते हुए राजीव गांधी एजुकेशन सिटी में रूकते हुए विस्तार से हर प्रकार की संभावनाओं को लेकर चर्चा की गई। तदोपरांत सिटी परिसर के अंदर दौरा करते हुए सेवली मार्ग से होते हुए एक फैक्टरी का निरीक्षण किया। तत्पश्चात् मोतीलाल नेहरू स्कूल ऑफ स्पोर्टस का भी दौरा किया। जहां से आगे बढ़ते हुए कुंडली बार्डर पर ठहराव कर नरेला के रास्ते सफियाबाद रोड से होते हुए अकबरपुर बारोटा पुलिस चौकी के निकट ठहराव कर पुन: विचार-विमर्श किया।


उपायुक्त पूनिया व पुलिस अधीक्षक रंधावा ने राष्ट्रीय राजमार्ग तथा जिला के प्रमुख अंदरूनी मार्गों से होने वाली आवाजाही को लेकर गंभीरता से चर्चा की। उन्होंने हर प्रकार की संभावनाओं से निपटने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए। साथ ही उन्होंने ऐसे स्थानों की भी तलाश की जहां जरूरत पडऩे पर किसानों का ठहराव करवाया जा सके। वाहनों की पार्किंग को लेकर भी चर्चा की गई। इस मौके पर एएसपी निकिता खट्टर, डीएसपी विरेंद्र सिंह, डीएसपी जोगेंंद्र सिंह, इंसपेक्टर वजीर सिंह, इंसपेक्टर रमेशचंद्र, इंसपेक्टर राजीव व अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद थे।