आईटी प्रोफेशनल संघ ने मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री सहित विधायकों को सौंपे ज्ञापन पत्र

आईटी प्रोफेशनल संघ ने मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री सहित विधायकों को सौंपे ज्ञापन पत्र

पूर्व राजस्व मंत्री निर्मल सिंह द्वारा किए गए ट्वीट और फेसबुक पोस्ट पर 25000 कमेंट

हिसार, 6 जून  रवि पथ:

हारट्रोन आईटी प्रोफेशनल संघ की राज्य कमेटी हरियाणा के आह्वान पर आज पूरे हरियाणा के अलग-अलग विभागों में कार्यरत आईटी प्रोफेशनलस ने हरियाणा के कांग्रेसी नेता व पूर्व राजस्व मंत्री निर्मल सिंह द्वारा किए गए ट्वीट और फेसबुक पोस्ट पर 25000 कमेंट करते हुए सभी आईटी प्रोफेशनल को पक्का करने, पिछले 2 साल से लंबित वेतन वृद्धि की फाइल को अप्रूव करने, एलटीसी जारी करने, डीए का लाभ देने, सुप्रीम कोर्ट द्वारा 2017 में दिये गये फैंसले के अनुसार समान काम समान वेतन देने, मेडिकल का लाभ देने, कोविड के दौरान ड्यूटीरत आईटी प्रोफशनलस की हुई मृत्यु के कारण आईटी प्रोफेशनलस के घरवालों को मृत्यु लाभ देने तथा अन्य मांगों को लेकर अभियान चलाया हरियाणा आईटी प्रोफेशनल संघ के राज्य उपप्रधान वीरेंद्र ढाण्ढा व प्रेस सचिव दीपांशु ने संयुक्त रुप से प्रेस नोट जारी करते हुए बताया कि उपरोक्त सभी मांगों को लेकर हरियाणा के अलग-अलग विभागों में कार्यरत लगभग 4000 आईटी प्रोफेशनल पिछले 2 वर्षों से संघर्षरत हैं जिसके तहत इस आंदोलन के तहत हरियाणा के आईटी प्रोफेशनल की मुख्य मांग वर्ष 2019 से आईटी प्रोफेशनल की वेतन वृद्धि की फाइल आईटी विभाग के उच्च अधिकारियों के पास लंबित पड़ी हुई है, जिसके कारण हरियाणा के आईटी प्रोफेशनल को बहुत ही कम मानदेय के साथ काम करना पड़ रहा है जो आईटी प्रोफेशनल्स 15 से 20 वर्षों से कार्यरत हैं जबकि इस फाइल को निकलवाने के लिए पूरे हरियाणा में आईटी प्रोफेशनल संघ ने अपने आंदोलन के तहत हरियाणा के सभी विधायकों को ज्ञापन पत्र सौंपे गये है तथा इसके बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री को भी ज्ञापन सौंपा गए हैं सभी मंत्रियों को भी इस मामले से बार बार अवगत करवाया जा चुका है लेकिन आईटी विभाग के उच्च अधिकारियों की कार्यप्रणाली सही ना होने की वजह से पिछले 2 वर्षों से हरियाणा के आईटी प्रोफेशनल कम मानदेय के साथ गुजारा करने को मजबूर है


उन्होंने बताया कि आज पूरे हरियाणा में सरकार को केंद्र के स्तर पर आईटी की सेवाएं देने के लिए तथा हरियाणा राज्य को डिजिटल बनाते हुए, केंद्रीय स्तर पर पहला पुरस्कार दिलवाने में हरियाणा के आईटी प्रोफेशनल की महत्वपूर्ण भूमिका रही है, जिसको सरकार ने भी स्वीकार किया है। इसके बावजूद भी हरियाणा सरकार आईटी प्रोफेशनल के वेतन वृद्धि की फाइल पिछले 2 वर्षों से लटकाए हुए है। ऐसे में आईटी प्रोफेशनल को 15 से 20 हजार रुपये में ही गुजारा करना पड़ रहा है जबकि महंगाई अपने चरम पर पहुंची हुई है। यह हरियाणा सरकार के आईटी विभाग के उच्च अधिकारियों की नाकामी ही समझी जानी चाहिए, जिसकी वजह से आज आसमान छूती महंगाई के दौर में हरियाणा को अपनी मेहनत के दम पर दिन रत काम करके पूरे देश में प्रथम स्थान दिलवाने वाले आईटी प्रोफेशनल इतने कम मेहनताने में गुजारा करने को मजबूर हैं
उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह ही ट्विटर पर अभियान चलाते हुए हरियाणा के आईटी प्रोफेशनल ने लगभग 10000 ट्वीट किए थे। उसी कड़ी में आज पूरे हरियाणा के लगभग 4000 आईटी प्रोफेशनल ने फेसबुक हरियाणा के पूर्व राजस्व मंत्री व कांग्रेस नेता निर्मल सिंह द्वारा आज फेसबुक पर हारट्रोन के तहत लगे हुए कच्चे कर्मचारियों के समर्थन में पोस्ट करने के बाद सुबह से ही अभियान चलाया था, जिसके तहत उनके पोस्ट पर लगभग 25000 कमेंट शाम 6 बजे तक किए गए तथा हरियाणा सरकार से मांग की गई कि हरियाणा को आईटी सेवाओं के लिए पूरे देश में प्रथम पुरस्कार दिलवाने वाले आईटी प्रोफेशनल की वेतन वृद्धि की फाइल तुरंत प्रभाव से अप्रूव की जानी चाहिए।