चंडीगढ़ और एसवाईएल मुद्दों पर विधान सभा का विशेष सत्र बुलाने के लिए राज्यपाल को सौंपेगे ज्ञापन: अभय सिंह चौटाला

चंडीगढ़ और एसवाईएल मुद्दों पर विधान सभा का विशेष सत्र बुलाने के लिए राज्यपाल को सौंपेगे ज्ञापन: अभय सिंह चौटाला

चंडीगढ़ और एसवाईएल के पानी को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बिल्कुल भी गंभीर नहीं हैं

दोनों मुद्दों के लिए विधान सभा का विशेष सत्र बुला कर रेज़लूशन पास करना अति आवश्यक है

चंडीगढ़, 2 अप्रैल  रवि पथ :

इनेलो प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि चंडीगढ़ और एसवाईएल का पानी दोनों ही हरियाणा के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। शुक्रवार को पंजाब विधानसभा में रेज़लूशन पास कर चंडीगढ़ पर दावा ठोकने के बाद इनेलो पार्टी ने इसकी कड़े शब्दों में निंदा की लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा दिया गया गोल-मोल बयान दर्शाता है कि वो चंडीगढ़ को लेकर बिल्कुल भी गंभीर नहीं हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री खट्टर से चंडीगढ़ और एसवाईएल का पानी हरियाणा को दिला पाने की उम्मीद करना बेमानी है। इनेलो पार्टी द्वारा इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री से विशेष सत्र बुलाने की मांग की गई थी लेकिन उस पर भी उन्होंने अपना रुख स्पष्ट नहीं किया।
उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में पत्र लिख कर महामहिम राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने के लिए उनसे मिलने का समय मांगा है। इनेलो का एक प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल को ज्ञापन सौंपेगा। ज्ञापन द्वारा महामहिम राज्यपाल को चंडीगढ़ और एसवाईएल दोनों मुद्दों से अवगत करवाया जाएगा और उनसे मांग करेंगे कि जल्द से जल्द विधानसभा का विशेष सत्र बुला कर हरियाणा के हितों के लिए चंडीगढ़ और एसवाईएल पर एक रेज़लूशन पास किया जाए। उन्होंने कहा कि शाह कमीशन की रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि चंडीगढ़ पर पहला हक हरियाणा का है फिर पंजाब कैसे चंडीगढ़ पर दावा कर सकता है। दूसरा एसवाईएल पर सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय हरियाणा के पक्ष में दिया हुआ है और एसवाईएल का पानी हरियाणा को मिले उसके लिए केंद्र सरकार द्वारा नहर के निर्माण के लिए एक एजेंसी नियुक्त की जाए। इसलिए दोनों मुद्दों के लिए विधान सभा का विशेष सत्र बुला कर रेज़लूशन पास करना अति आवश्यक है।