सैंकडों लोक कलाकारों ने किया जोरदार विरोध प्रदर्शन हरियाणा कला परिषद् के अतिरिक्त निदेशक गजेन्द्र फौगाट पर लोक कलाकारों का फूटा गुस्सा

 

सैंकडों लोक कलाकारों ने किया जोरदार विरोध प्रदर्शन
हरियाणा कला परिषद् के अतिरिक्त निदेशक गजेन्द्र फौगाट पर लोक कलाकारों का फूटा गुस्सा

 ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री से की गजेन्द्र फौगाट की शिकायत कला एवं संस्कृति विभाग के पद से हटाये जाने की मांग

रोहतक, 17 अक्टूबर  रवि पथ :

हरियाणा लोक कलाकार यूनियन द्वारा हरियाणा के लगभग 18 जिलों से आए लोक कलाकारों ने शांतिप्रिय रोष प्रदर्शन किया। प्रदर्शन पं. श्रीराम रंगशाला स्थित हरियाण कला परिषद् रोहतक मंडल के कार्यालय से लेकर अम्बेडकर चौंक तक किया गया। इस अवसर पर यूनियन के चेयरमैन शीशपाल सिंह ने बताय कि यूनियन के समक्ष निरन्तर लोक कलाकारों की शिकायतें आ रही थी कि हरियाणा कला परिषद् के अतिरिक्त निदेशक गजेन्द्र फौगाट पक्षपात करता है एवं कलाकारों के साथ बदतमीजी करता है। जिसे लेकर यूनियन ने कई बार हरियाणा कला परिषद् के निदेशक संजय भसीन को भी बताया किन्तु कोई समाधान ना होने के कारण प्रदेश भर के कलाकारों में रोष के चलते यह प्रदर्शन किया गया है।
उन्होंने बताया कि जो भी कलाकार गजेन्द्र फौगाट के खिलाफ कुछ बोलता है वह उसे कांग्रेसी, इनेलो, वामपंथी आदि बताकर अपना पल्ला झाड़ लेता है। जिला अध्यक्ष नरेश कुंडू ने कहा कि गजेन्द्र फौगाट ने जब से अपना पदभार सम्भाला है अपने चहेते कलाकारों के ही कार्य दिया है। उन्होंने बताया कि गजेन्द्र ने सिर्फ अपने चहेते कलाकारों को ही काम देता है एवं मुख्यमंत्री के करीबी होने के कारण सभी अधिकारियों को भी दबा रख है। भविष्य में यदि गजेन्द्र फौगाट पर सरकार द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तो हजारों लोक कलाकार भाजपा का दामन छोड़ देंगे।
80 वर्षीय सारंगी वादक प्रताप सिंह ने कहा कि गजेन्द्र से हमने कई बार कार्यक्रम देने की गुहार लगाई किन्तु उन्होंने हमेशा निराश किया। 82 वर्षीय सतबीर जोगी ने कहा कि गजेन्द्र उनके घर पर आया और अपने पीए से वीडियो बनवाई तथा मुझे तरह-तरह के प्रलोभन देकर उसे फेसबुक पर डालकर अपना प्रचार करके मुयमंत्री के सामने कलाकारें का ुद को बड़ा हितैषी दिखाया जोकि सरासर गलत है।
युवा लोक कलाकार कामिल शहजाद ने बताया कि वो लगभग 18 वर्षों से कला क्षेत्र में कार्य कर रहा है एवं एनजेडसीसी एवं अन्य विभागों से जुड़ा है किन्तु उसे जब से गजेन्द्र फौगाट यहां पर आया है तब से कोई कार्यक्रम नहीं मिला है। इसी प्रकार प्रदेश भर के लोक कलाकारों में गजेन्द्र फौगाट की दबंगई और पक्षपात को लेकर रोष है।
इस अवसर पर यूनियन ने अपना ज्ञापन उपायुक्त रोहतक को सौंपकर अपना रोष जाहिर किया।
इस प्रदर्शन में नरेश कुंडू, प्रदीप बहमणी, संदीप यादव, तामील खान, सलीम प्यारे, प्रताप सिंह जोगी, सतबीर सिंह जोगी, हरिकेश जोगी, राजकुमार जंगम, वेदप्रकाश बनचारी, मोनू सांघी, नरेन सांगी, महादेव, सुशील कुमार, मंजीत सांगी, बेदू पलवल, दिलबारा सिंह जींद, ब्रह्मजीत जींद, हरपाल नाथ आदि सहित सैंकडों लोक कलाकार मौजूद रहे।