आंदोलन में दुष्कर्म मामले के बाद किसान मोर्चा ने किया महिला कमेटी का गठन

आंदोलन में दुष्कर्म मामले के बाद किसान मोर्चा ने किया महिला कमेटी का गठन

बहादुरगढ़  रवि पथ  :

बीते 6 महीनों से दिल्ली बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन कुछ दिन पहले बंगाल की एक युवती से दुष्कर्म के मामले को लेकर बदनाम हो रहा था। इस घटना के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए एक कमेटी बनाई है और महिलाओं को ही इस कमेटी का मेंबर बनाया गया है। बहादुरगढ़ के टीकरी बॉर्डर पर हुई मीटिंग में 6 महिलाओं सुमन हुड्डा, सुदेश गोयत, शारदा, अमृता कुंडू, सुदेश कंडेला और जगमति सांगवान को कमेटी में शामिल किया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, यह कमेटी महिला सुरक्षा और महिलाओं के रहने और खाने की व्यवस्था बनाएगी। महिला कमेटी के सदस्यों के नम्बर भी सार्वजनिक होंगे और कमेटी आंदोलन स्थल पर मौजूद महिलाओं की तादाद का सही आंकलन भी करेगी। इसके साथ ही महिलाओं की शिकायत का समाधान भी कमेटी ही करेगी।

कमेटी की मेंबर सुदेश गोयत ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए आंदोलन स्थल पर महिला पीसीआर लगाने की मांग सरकार से की है। उन्होंने सुलभ शौचालय से महिलाओं के लिए टॉयलट की व्यवस्था करने की अपील की है। आंदोलन स्थल पर व्यक्तिगत तौर पर आने वाली महिला वॉलेंटियरों के रहने की अलग व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल की युवती से दुष्कर्म के बाद महिला सुरक्षा के लिए मोर्चा की ओर से कड़े इंतजाम किए गए हैं।