नौकरी से हटाए गए कोरोना वारियर्स का धरना 33वें दिन भी जारी

नौकरी से हटाए गए कोरोना वारियर्स का धरना 33वें दिन भी जारी

रवि पथ न्यूज़ :

नागरिक अस्पताल हिसार में नौकरी से हटाए गए कोरोना वाररिर्स का धरना आज 33वे दिन में प्रवेश कर चुका है लेकिन फिर भी सरकार की तरफ से कोई भी आश्वासन नहीं आया है। सरकार की उदासीनता को देखते हुए धरने पर बैठे कर्मचारी अपने धरने को मजबूती के साथ आगे बढ़ाते जा रहे हैं ।आज के धरने की अध्यक्षता कोरोना वाररिर्स की तरफ से विकास शर्मा द्वारा की गई और विकास शर्मा ने बताया कि अगर जल्द ही सरकार ने कोरोना योद्धाओं उनका सम्मान वापिस नहीं दिया तो आगे कोई भी बड़ा कदम उठाया जा सकता है जिसकी जिम्मेवारी सरकार की होगी। 33 वें दिन भी कोरोना योद्धाओं ने क्रमिक अनशन जारी रखा और क्रमिक अनशन 15 दिन में जा पहुंचा है क्रमिक अनशन पर बैठे कर्मचारियों में विकास शर्मा फार्मेसी ऑफिसर, राजू डाटा एंट्री ऑपरेटर, मंजू डाटा एंट्री ऑपरेटर, मंजू स्टाफ नर्स।अप्रैल से सरकार ने एक अहम फैसला लिया था आउटसोर्सिंग एजेंसी खत्म करते हुए सभी आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को कौशल रोजगार निगम पोर्टल पर डालने का काम किया था जिसकी हम तहे दिल से प्रशंसा भी करते हैं लेकिन दूसरी तरफ सरकार ने जो कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए कोरोना योद्धाओं को तैनात किया था उन कोरोना योद्धाओं को दरी पर बिठाने का जो काम किया है उसकी कड़ी में शब्दों में निंदा भी करते हैं ।स्वास्थ्य कर्मचारी संघ संबंधित भारतीय मजदूर संघ के जिला प्रधान श्री अनिल कुमार नें अपने सम्बोधन में कहा कि अगर कोरोना योद्धाओं की नौकरी दोबारा से इनको वापस नहीं दी गई तो स्वास्थ्य कर्मचारी संघ संबंधित भारतीय मजदूर संघ कोई भी कठोर कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगा इसकी जवाबदेही खुद सरकार की होगी।