मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए सावधानी बरते नागरिक : सिविल सर्जन

मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए सावधानी बरते नागरिक : सिविल सर्जन

हिसार, 02 अगस्त रवि पथ :

सिविल सर्जन डॉ रत्ना भारती ने जिले के नागरिकों से मलेरिया व डेंगू से बचाव के लिए सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र में पानी खड़ा रहने से मच्छरों के कारण मलेरिया व डेंगू फैलने का खतरा बढ़ जाता है।
सिविल सर्जन ने डेंगू के लक्षणों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि अचानक तेज सिर दर्द व बुखार का होना, मांसपेशियों तथा जोड़ों में दर्द होना, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द, जोकि आँखों को घुमाने से बढ़ता है, जी-मिचलाना एवं उल्टी आना तथा गंभीर मामलों में मुंह, मसूड़ों से खून आना तथा त्वचा पर चकत्ते उभरना डेंगू की बीमारी के लक्षण हो सकते हैं। अगर किसी व्यक्ति में मलेरिया व डेंगू के लक्षण नजर आते हैं, तो वे अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर जांच अवश्य करवाएं, ताकि समय पर इलाज शुरू किया जा सके। उन्होंने बताया कि मलेरिया की जांच व उपचार ग्राम स्तर पर सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर नि:शुल्क उपलब्ध है। उन्होंने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि मलेरिया व डेेंगू मच्छर के कारण फैलता है, इसलिए वे अपने आसपास के क्षेत्र में बरसाती/ गंदा पानी एकत्रित न होने दें। मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए पानी की टंकियों व हौदियों के ढक्कन हमेशा बंद रखें, घरों के आसपास पानी इक_ा न होने दें, सप्ताह में एक बार कूलर को खाली करके अवश्य सुखायें, यदि कूलर खाली न हो सके तो उसमें एक बड़ा चम्मच टेमिफोस/डीजल व पेट्रोल डालें। उन्होंने बताया कि टूटे-फूटे बर्तन, टायर इत्यादि खुले में न रखें, इनमें बरसात का पानी भरने से मच्छर पैदा होने का खतरा रहता है।