मूल्यांकन प्रणाली को छात्र-हितैषी बनाने हेतु उठाए बोर्ड ने विशेष पग

मूल्यांकन प्रणाली को छात्र-हितैषी बनाने हेतु उठाए बोर्ड ने विशेष पग

  • मूल्यांकन में बच्चों के भविष्य के साथ कतई खिलवाड़ नहीं होगा : बोर्ड अध्यक्ष
    भिवानी, 28 अप्रैल, 2022 रवि पथ :
  • आज से हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की दसवीं व बारहवीं की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू हो गया है। इस बार बोर्ड ने प्रदेशभर में दसवीं परीक्षा के 70 व बारहवीं परीक्षा के 39 मूल्यांकन केन्द्र बनाए हैं। 28 अप्रैल से 20 मई तक 18 कार्यदिवसों में इस मूल्यांकन कार्य का समापन किया जाएगा। दसवीं कक्षा के लिए 8083 अध्यापक व बारहवीं के लिए 5096 प्राध्यापक मूल्यांकन कार्य के लिए नियुक्त किए गए हैं। सैकेण्डरी व सीनियर सैकेण्डरी(शैक्षिक/मुक्त विद्यालय) मार्च-2022 की परीक्षा का परिणाम जून माह के दूसरे सप्ताह में घोषित कर दिया जाएगा। ये जानकारी हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी के अध्यक्ष प्रो०(डॉ.) जगबीर सिंह ने मूल्यांकन सैन्टरों का निरीक्षण करने के बाद आज यहां प्रेस कांफ्रेंस में दी।
    बोर्ड अध्यक्ष प्रो०(डॉ.) जगबीर सिंह ने बताया कि उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन को लेकर बोर्ड ने एक विशेष प्रणाली को अपनाते हुए मूल्यांकन से पूर्व मूल्यांकन केन्द्रों पर प्रथम दिन मॉक मार्किंग टेस्ट किया गया। मॉक टेस्ट में प्रत्येक कोड की चार-चार उत्तरपुस्तिकाओं की परीक्षकों से जांच करवाते हुए सभी परीक्षकों द्वारा दिए गए अंकों का अनुपात निकाल कर ही अंक दिए जाए। उन्होंने कहा कि अंकन कार्य मॉक मार्किंग टेस्ट नियमानुसार व जारी हिदायतों अनुसार करवाया जाए। इन कॉपियों के मूल्यांकन के बाद सबने एक साथ बैठकर इन समस्त कॉपियों का विश्लेषण किया। बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि इस खाके के विश्लेषण से ये होगा कि इन कॉपियों में किसने इस प्रश्र के कितने नंबर दिए और क्यों दिए? जिससे बच्चों के हित को देखते हुए बोर्ड ने इस बार ये प्रणाली अपनाई है। कई बार ऐसा होता है कि एक कॉपी में परीक्षक 60 अंक दे देता है तो उसी कॉपी की चेकिंग पर दूसरा परीक्षक 70 अंक दे देता है। इस स्थिति में बोर्ड को कॉपी का पुर्नमूल्यांकन कराना पड़ता है। इस सिस्टम से बच्चे का नुकसान होता है। उन्होंने बताया कि समय-समय पर सभी मूल्यांकन केन्द्रों का औचक निरीक्षण भी किया जायेगा।
    बोर्ड अध्यक्ष डॉ. सिंह ने कहा कि मूल्यांकन केन्द्रों पर चैकिंग अस्सिटेंट व हैड परीक्षक को नियुक्त करने में उनकी योग्यता/अनुभव के पैमाने को ध्यान में रखा गया है। सामान्य तौर पर चैकिंग अस्सिटेंट को एक दिन में 240 कॉपी चैक करनी होती हैं। ऐसे सिस्टम से मूल्यांकन में त्रुटि हो जाती थी। चैकिंग अस्सिटेंट अब तक दसवीं पास होता था, लेकिन अब न्यूनतम ग्रेजुएट होगा।
    सीसीटीवी की नज़र में होगी मार्किंग : प्रत्येक मूल्यांकन केन्द्र पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। मूल्यांकन कार्य को बोर्ड के अधिकारी मुख्यालय पर लाइव देख रहे हैं। किस केन्द्र पर किस तरह मार्किंग की जा रही है, पूरे अध्यापक उपस्थित हैं या नहीं ? ये जानकारी सीसीटीवी के माध्यम से प्राप्त हो रही है। भिवानी, 28 अप्रैल, 2022: हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष प्रो०(डॉ.) जगबीर सिंह एवं बोर्ड सचिव श्री कृष्ण कुमार, ह.प्र.से. ने आज बोर्ड मुख्यालय पर हुई एक प्रेस वार्ता में बताया कि 30 मार्च से आरम्भ हुई सैकेण्डरी/ सीनियर सैकेण्डरी की परीक्षाएं 27 अप्रैल को समाप्त हो गई है। इन परीक्षाओं के संचालन के लिए प्रदेशभर में 1547 परीक्षा केंद्र गठित किए गए थे, जिसमें सैकेण्डरी के 1470 व सी0सैकेण्डरी के लिए 1138 परीक्षा केन्द्र थे। इन परीक्षा केन्द्रोंं पर लगभग 6 लाख 68 हजार 589 परीक्षार्थी प्रविष्ट हुए। बोर्ड द्वारा नकल करने व करवाने वालों के प्रति शून्य सहनशीलता की नीति अपनाई गई तथा परीक्षा के सुसंचालन हेतु 372 प्रभावी उडऩदस्तों का गठन किया गया था। परीक्षाओं के सफल संचालन में सहयोग के लिए बोर्ड अध्यक्ष द्वारा माननीय मुख्यमंत्री हरियाणा, शिक्षा मंत्री हरियाणा, मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, अतिरिक्त मुख्य सचिव, शिक्षा विभाग डॉ. महाबीर सिंह, डीजीपी पी.के. अग्रवाल, एडीजीपी ए.एस. चावला हरियाणा पुलिस, सभी जिला उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों, उप-मण्डल अधिकारियों, जिला शिक्षा अधिकारियों एवं समस्त प्रिंट व इलेक्ट्रोनिक मीडिया का हार्दिक धन्यवाद किया।
    उन्होंनेे बताया कि प्रदेशभर में नकल के 3602 मामले दर्ज किए गए, जिसमें प्रतिरूपण के 244 केस एवं 31 मोबाईल व 10 इलेक्ट्रोनिक डिवाईस के केस भी शामिल है। बोर्ड अध्यक्ष उडनदस्ते द्वारा नकल के 51, उपाध्यक्ष द्वारा 113, सचिव द्वारा 96, संयुक्त सचिव द्वारा 388, अध्यक्ष विशेष उडनदस्ते द्वारा 692, उपाध्यक्ष विशेष उडनदस्ते द्वारा 146, सचिव विशेष उडनदस्ते द्वारा 235, आर.ए.एफ. द्वारा 277 तथा अन्य उडनदस्तों द्वारा 1604 मामले दर्ज किए गए। उन्होंने आगे बताया कि प्रदेशभर में विभिन्न उडऩदस्तों द्वारा परीक्षा केन्द्रों पर नकल में संलिप्त पाए जाने वाले कुल 12 केस मोबाईल सहित पकड़े, जिसमें अध्यक्ष उडऩदस्ते द्वारा 10 मोबाईल, उपाध्यक्ष द्वारा 01 तथा 01 अध्यक्ष विशेष उडऩदस्ते द्वारा पकड़े गए, जिनके विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज करवाते हुए आगामी कार्यवाही की गई।
    उन्होंने बताया कि परीक्षा ड्यूटी में कौताही बरतने वाले 01 केन्द्र अधीक्षक, 01 उपकेन्द्र अधीक्षक, 114 पर्यवेक्षक, 05 लिपिक तथा 01 सेवादार रिलीव किया गया। परीक्षा ड्यूटी में कौताही बरतने पर इनके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जा रही है।
    उन्होंने आगे बताया कि सैकेण्डरी कक्षा के रद्द हुए 32 परीक्षा केन्द्रों की पुन: परीक्षा 22 अप्रैल को तथा सीनियर सैकेण्डरी के भी रद्द हुए 32 परीक्षा केन्द्रों की पुन: परीक्षा 28 अप्रैल को संचालित करवाई गई।
    उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सीनियर सैकेण्डरी (शैक्षिक/मुक्त विद्यालय) परीक्षा मार्च-2022 में परीक्षा केंद्रों पर 27 अप्रैल को रद्द हुई विषय की पुन: परीक्षा 30 अप्रैल को दोपहर 12:30 से सायं 03:00 बजे तक संचालित करवाई जाएगी। इस परीक्षा मेें 412 परीक्षार्थी भाग लेगे।
    परीक्षा की पवित्रता भंग होने के कारण सीनियर सैकेण्डरी परीक्षा के रद्द किए गए विषयों की पुन: परीक्षा की जानकारी देते हुए बोर्ड अध्यक्ष प्रो०(डॉ.) जगबीर सिंह ने बताया कि जिला चरखी दादरी के रा.व.मा.वि., मिसरी-01 परीक्षा केंद्र की शारीरिक शिक्षा विषय की परीक्षा अब आदर्श वरिष्ट माध्यमिक विद्यालय, नजदीक ढ़ाणी फाटक , गांधी नगर चरखी दादरी-01 परीक्षा केंद्र पर तथा गुरूग्राम के रा.माडल सस्कृति.व.मा.वि., सुशांत लोक सेक्टर-43 गुरूग्राम-30 की शारीरिक विषय की परीक्षा डी.ए.वी.व.मा.वि., खाडसा रोड़, गुरूग्राम-2(बी-1) पर आयोजित करवाई जाएगी।
    इसके अतिरिक्त उन्होंने बताया कि आज की सम्पन्न हुई पुन: परीक्षा में नकल के कुल 16 मामले दर्ज हुए, जिसमें 02 प्रतिरूपण के भी शामिल है। उन्होंने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष प्रो०(डॉ.) जगबीर सिंह के उडऩदस्ते द्वारा जिला-भिवानी के परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया, जहां परीक्षा शान्तिपूर्वक चल रही थी। बोर्ड उपाध्यक्ष वी.पी.यादव के उडऩदस्ते द्वारा जिला पलवल के परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया जहां रा.क.व.मा.वि., पलवल-10 पर 02 प्रतिरूपण के केस दर्ज किए जिसमें अनुक्रमांक 3022369304 एवं 3022369674 पर असली परीक्षार्थियों के स्थान पर नकली परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे थे। इनके विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज करवाने व आवश्यक आगामी कार्रवाई करने के लिए केन्द्र अधीक्षक को निर्देश दिए गए तथा बोर्ड सचिव कृष्ण कुमार, ह.प्र.से. के उडऩदस्ते द्वारा जिला-भिवानी के परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया, जहां परीक्षा शान्तिपूर्वक चल रही थी। इसके अतिरिक्त उन्होंने आगे बताया कि संयुक्त सचिव के उडऩदस्ते द्वारा जिला-झज्जर व नारनौल के परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया, जहाँ अनुचित साधन के 07 मामले पकड़े।
  • उन्होंने बताया कि जिला प्रश्र पत्र उडऩदस्ते ने नूंह के परीक्षा केन्द्र रा.क.व.मा.वि., नूंह-03 के परीक्षा केन्द्र पर 02, रा.व.मा.वि., नूंह-11 (बी-1)पर 01, रा.व.मा.वि., सोनीपत-15 पर 02 एवं रा.व.मा.वि., आगरा चौंक पलवल-13(बी-2) पर 02 अनुचित साधन के केस दर्ज किए गए।