मीटर रीडिंग एवं बिजली बिल संबंधी समस्याओं का स्थाई समाधान हेतू लगाए जा रहे हैं स्मार्ट मीटर : बिजली मंत्री

March 5, 2022

मीटर रीडिंग एवं बिजली बिल संबंधी समस्याओं का स्थाई समाधान हेतू लगाए जा रहे हैं स्मार्ट मीटर : बिजली मंत्री

कहा, कुसुम योजना के तहत ट्यूबवेल कनेक्शन देने में देश में सर्वोच्च स्थान पर है हरियाणा

हिसार, 05 मार्च  रवि पथ :

बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग एवं बिजली बिल संबंधी समस्याओं का स्थाई समाधान करने के लिए निगम द्वारा बिजली के पोल पर स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं।
वे शनिवार को स्थानीय लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में दक्षिणी हरियाणा बिजली वितरण निगम के सौजन्य से आयोजित बिजली पंचायत में लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। उन्होंने बताया कि निगम द्वारा प्रदेश के पांच जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, अंबाला, करनाल तथा पंचकूला में स्मार्ट लगाने की प्रक्रिया जारी है। स्मार्ट मीटर को बंद व चालू करने की प्रक्रिया उपभोक्ता स्वयं कर सकेंगे। मीटर का कंट्रोल निगम के कार्यालय में रहेगा तथा इससे मीटर की रीडिंग व गलत बिजली बिल संबंधी समस्याओं से निजात मिलेगी। उन्होंने बताया कि जिन किसानों ने ट्यूबवेल कनेक्शन की सिक्योरिटी जमा करवा रखी है, उन्हें फसल कटाई के पश्चात कनेक्शन देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी तथा इस वर्ष के अंत तक सभी कनेक्शन जारी कर दिए जाएंगे।
उर्जा मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि किसानों को सोलर ट्यूबवेल कनेक्शन देने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में 15 हजार, द्वितीय चरण में 7 हजार सोलर ट्यूबवेल कनेक्शन दिए गए हैं तथा तृतीय चरण के तहत 25 हजार किसानों को सोलर ट्यूबवेल कनेक्शन देने का कार्य प्रगति पर है। सोलर ट्यूबवेल छोटे किसानों के लिए काफी कारगर सिद्घ हो रहे हैं। कुसुम योजना के तहत ट्यूबवेल कनेक्शन देने में हरियाणा देश में सर्वोच्च स्थान पर है। उन्होंने कहा कि निगम द्वारा लाइन लॉस कम करने के लिए कारगर कदम उठाए जा रहे हैं। गत सरकारों के दौरान प्रदेश में 31 प्रतिशत लाइन लोस था, जिसे कम करके अब लगभग 14 प्रतिशत कर दिया गया है। इससे करीब 5 हजार करोड़ रुपये के राजस्व की बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली उपभोक्ताओं को पर्याप्त मात्रा में बिजली आपूर्ति करने के उद्देश्य से म्हारा गांव-जगमग गांव योजना को प्रभावशाली ढंग से लागू किया गया है। जिले के 85 गांवों में 24 घंटे बिजली दी जा रही है तथा 60 गांवों में 24 घंटे बिजली देने का कार्य प्रगति पर है। निगम द्वारा बिजली बिलों का भुगतान डिजिटल के माध्यम से करने के लिए उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित किया जा रहा है। बिजली से संबंधी उपभोक्ताओं की शिकायतों के लिए निगम द्वारा टोल फ्री नंबर 1800-180-4334 तथा 1912 जारी किया गया है।
बिजली पंचायत में उन्होंने उपभोक्ताओं की बिजली बिल ठीक करवाने, ट्यूबवेल कनेक्शन, ट्रांसफार्मर व पोल शिफ्ट करवाने, लटके तार ठीक करवाने से संबंधित शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र निपटारा करने के लिए बिजली निगम के अधीक्षक अभियंता एसएस राय को निर्देश दिए गए। उन्होंने अधीक्षक अभियंता को निर्देश दिए कि वे इन समस्याओं का निराकरण सोमवार को अपने कार्यालय में करवाना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर बरवाला के विधायक जोगीराम सिहाग ने भी अपने क्षेत्र की विभिन्न बिजली संबंधी समस्याओं को बिजली मंत्री के समक्ष रखा। कार्यक्रम में एसडीएम अश्चीर नैन, निगम के कार्यकारी अभियंता अनीश अरोड़ा, विजेंद्र लांबा, भीमसेन, सिंचाई विभाग के अधीक्षक अभियंता जशमेर सिंह, कृषि विभाग के उप-निदेशक डॉ विनोद कुमार फोगाट, संदीप यादव सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।