पुलिस महानिदेशक हरियाणा  प्रशांत कुमार अग्रवाल ने की हिसार रेंज के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक।

पुलिस महानिदेशक हरियाणा  प्रशांत कुमार अग्रवाल ने की हिसार रेंज के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक।

मीटिंग में अपराध, कानून एवं व्यवस्था व अन्य मुद्दों पर की गई विस्तृत चर्चा।

चंडीगढ़- 27 फरवरी 2022 रवि पथ –

पुलिस महानिदेशक, हरियाणा  प्रशांत कुमार अग्रवाल रविवार को हिसार पहुँचे। हिसार पहुंचने पर पुलिस महानिदेशक

प्रशांत कुमार अग्रवाल को हिसार पुलिस के जवानों द्वारा सम्मान स्वरूप सलामी दी गई। ऑफिसर्स मेस हिसार में स्थित कॉन्फ्रेंस हॉल में उन्होंने हिसार रेंज के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में अपराध, कानून एवं व्यवस्था व अन्य मुद्दों से संबंधित विषयों की समीक्षा की गई। बैठक से पूर्व हिसार रेंज के पुलिस महानिरीक्षक राााके शश आर्य व पुलिस के अन्य उच्च अधिकारियों द्वारा डीजीपी हरियाणा का हिसार पहुँचने पर स्वागत किया गया। इस अवसर पर  राकेश आर्य, आईपीएस पुलिस महानिरीक्षक हिसार रेंज हिसार, पुलिस अधीक्षक सिरसा डॉक्टर अर्पित जैन, पुलिस अधीक्षक हिसार

लोकेंद्र सिंह, पुलिस अधीक्षक हांसी श्रीमती नीतिका गहलोत, पुलिस अधीक्षक जींद

नरेंद्र बिजारणिया, पुलिस अधीक्षक फतेहाबाद  सुरेंदर सिंह व अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहे है।

मीटिंग के दौरान अनेक विषयों तथा आपराधिक आंकड़ों की तुलनात्मक समीक्षा करते हुए पुलिस के उच्च अधिकारियों द्वारा विस्तृत विचार विमर्श किया गया। जिनमें तुलनात्मक आपराधिक आंकड़ों के साथ-साथ स्थानीय एवं विशेष प्रावधानों के तहत आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम करना, लंबित शिकायतों का जल्द से जल्द निपटारा, उदघोषित अपराधी, बेल जंपर, मोस्ट वांटेड तथा आपराधिक गिरोह की धरपकड़ के लिए की गई कार्यवाही, मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त दोषियों की संपत्ति को अटैच करने की कार्रवाई, शस्त्र लाइसेंसों का विश्लेषण, पासपोर्ट वेरिफिकेशन, तेल पाइपलाइन की सुरक्षा के लिए किए गए प्रबंध व दर्ज मामलों के जांच पड़ताल की कार्रवाई, चिन्हित अपराधों की रोकथाम के लिए निगरानी, मादक एवं नशीले पदार्थों, जुआ सट्टा, अवैध शराब की तस्करी तथा अवैध असलाह को पकड़ने के लिए चलाए गए विशेष अभियान के दौरान प्राप्त की गई कार्यवाही की समीक्षा, क्षेत्र में शांति एवं कानून व्यवस्था के हालात की समीक्षा, न्यायिक परिसरों की सुरक्षा व्यवस्था, प्रशासनिक कार्य एवं वेलफेयर के मुद्दे, विभागीय जांच के मामलों संबंधी निष्पादन की कार्रवाई, राष्ट्रीय व राज्य राजमार्ग एवं अपराध की दृष्टि से संवेदनशील एरिया में पुलिस की मौजूदगी एवं निगरानी इत्यादि विषयों की समीक्षा करते हुए विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।
पुलिस महानिदेशक हरियाणा पी के अग्रवाल ने बैठक में मौजूद पुलिस अधिकारियो को संबोधित करते हुए कहा कि संगीन किस्म के अपराधों से जुड़ी शिकायतों की गहनता से जांच करके त्वरित कार्रवाई की जाए। इसके अलावा नशा तस्करी के अवैध धंधे पर अंकुश लगाने व नशाखोरी का अवैध कार्य करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में जाए। उन्होंने हिसार रेंज के जिलों में मोस्टवांटेड, उद्घोषित अपराधियों, बेल जम्परों व पैरोल जम्पर अपराधियों को पकड़ने के लिए गम्भीरता से कार्यवाही करने के निर्देश दिए। अपराधों की रोकथाम, शांति एवं कानून व्यवस्था को दुरुस्त बनाए रखने के लिए किए गए प्रबंधों की समीक्षा करते हुए पुलिस महानिदेशक महोदय ने कहा कि सभी पुलिस अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में सुरक्षा के पर्याप्त प्रबंध सुनिश्चित करें, ताकि कानून व्यवस्था एवं शांति बनी रहे। पुलिस विभाग के खुफियां तन्त्र को मजबुत करने पर बल देते हुए उन्होंने अपराधिक मामलों जैसे आर्म्स एक्ट व एनडीपीएस एक्ट के तहत दर्ज केसों का गहनता से अनुसंधान करने व केस की तह तक जाने के निर्देश दिए। ताकि अपराधियों के नेटवर्क का पता चल सके व प्रभावी कार्रवाई कर अपराध की पुनरावृति को रोका जा सके। अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि ज्यादा से ज्यादा पुलिस फोर्स सडको पर अलर्ट नजर आनी चाहिये, जिससे आमजन स्वयं को सुरक्षित महसूस कर सकें। उन्होने महिलाओ के विरुद्ध अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर कड़ी निगरानी रखने व ऐसी शिकायतो पर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। यातायात को बाधारहित बनाए रखना के लिए पुख्ता प्रबंधन पर बल देते हुए उन्होने कहा कि लोगो को सडक जाम से निजात दिलवाने के लिये योजनाबद्ध व प्रभावी तरीके से कार्यवाही की जाए। उन्होने कहा कि हरियाणा पुलिस की छवि अच्छी है, इसे और बेहतर बनाने की दिशा मे कार्य करना है, जोकि सेवा, सुरक्षा, सहयोग की वचनबद्धता, मेहनत व परिणामों पर निर्भर है। हरियाणा पुलिस के पास संसाधनो की कमी नही है, उनका बेहतर उपयोग किया जाना चाहिए। हमे आम जनता के प्रति समर्पित पुलिस बनने की दिशा मे काम करना है। हमे अपनी कार्यशैली को ओर अधिक प्रभावी, कुशल व कानून सम्मत बनाना होगा।
क्राइम समीक्षा मीटिंग के दौरान पुलिस महानिदेशक महोदय ने सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस को सड़कों पर लगातार दृश्यता और अपराधियों तक पहुंच बनानी होगी। थाने में आने वाले हर व्यक्ति की सुनवाई हो और उसकी शिकायत पर तुरंत कार्यवाही की जाए। जांच के स्तर को बेहतर किया जाए, जिससे दोषियों को सजा दिलाने की दर को बढ़ाया जा सके। जांच में तकनीक का बेहतर इस्तेमाल किया जाए। बीट सिस्टम को और मजबूत किया जाए। प्रत्येक पुलिस अधिकारी अपने अधीन कार्यरत पुलिस कर्मचारियों की कार्यकुशला को पहचाने तथा उसके अनुरुप ही उनसे कार्य लिया जाए। हरियाणा पुलिस द्वारा जवानों के कल्याण की तरफ भी ध्यान दिया जा रहा है। अनेक कल्याणकारी योजनाएं जवानों के लिए चलाई जा रही है। जवानो के स्वास्थ्य व सेहत का ध्यान रखते हुए अपने स्तर पर जरुरी कदम उठाए। जवानों के लिए सुविधाओं को और बेहतर किया जाए। अच्छे कार्य के लिए जवानों को उचित इनाम व नियमानुसार समय पर तरक्की सुनिश्चित की जाए। उचित समय पर पदोन्नति देने के अलावा पुलिसकर्मियो के आवास, चिकित्सा और उनके बच्चों के लिए बेहतर शिक्षा सुविधा बारे विशेष ध्यान रखा जाए।
मीटिंग के पश्चात पत्रकारों के रूबरू होते हुए पुलिस महानिदेशक  प्रशांत कुमार अग्रवाल ने कहा कि आज यहाँ हिसार रेंज के सभी पुलिस अधिकारियों के साथ अपराध , नशा, प्रसासनिक मुददों, कानून व्यवस्था पर चर्चा कर सभी मामलों की समीक्षा की गई। इस दौरान कुछ ऐसे मुद्दें भी सामने आये जहाँ हमे और अधिक मेहनत करने की आवश्यकता है उन्हें चिन्हित किया गया और एक कार्ययोजना तैयार की गई की ओर भी ज्यादा मेहनत कर हम अपने प्रदर्शन को ओर बेहतर कर सके। साइबर क्राइम के सम्बद्ध में पूछे गए सवाल पर पुलिस महानिदेशक महोदय ने कहा कि कोरोना काल मे ऑनलाइन ट्रांसजेक्शन में बढ़ोतरी हुई है साइबर क्राइम की कोई भौगोलिक क्षेत्र नही है। हरियाणा पुलिस ने सभी पुलिस थानों में साइबर डेस्क स्थापित किये और राज्य में 8 साइबर पुलिस स्टेशन भी खोले है। इस वर्ष हमारा यह प्रयास है कि हर जिले में साइबर थाना हो। और हम लगातार पुलिस कर्मियों की साइबर अपराध से संबंधित ट्रेनिंग करवा रहे है। डायल 112 के बारे में पूछे जाने पर पुलिस महानिदेशक महोदय ने बताया कि डायल 112 प्रोजेक्ट के बहुत सकारात्मक परिणाम आये है। डायल 112 का प्रदर्शन बहुत संतोषजनक रहा है। नशीले पदार्थों के कारोबार पर लगाम लगाने के लिए हरियाणा स्टेट नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का गठन किया गया है। जो एक एजेंसी के रूप में कार्य करेगी। जिसे सभी संसाधन उपलब्ध करवाए गए है। महिला विरुद्ध अपराध के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि महिला विरुद्ध अपराध में त्वरित और सख्त कार्रवाई करना हमारा हमारी प्रतिबद्धता है। कम्युनिटी पोलिसिंग के बारे में उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए बहुत आवश्यक है। कम्युनिटी पोलिसिंग के जरिये हमे नागरिको की पुलिस के बारे में क्या धारणा है इसे जानने का मौका मिलता है और नागरिको में पुलिस की विश्वसनीयता बनती है पुलिस जनता की सेवक है। हमने कम्युनिटी पोलिसिंग पर बहुत ध्यान दिया है। हिसार के साथ बाकी जिलों में भी पुलिस अधिकारी व कर्मचारी नागरिको के लगातार संपर्क में रहते है। पुलिस के जवानों की सेहत को ध्यान में रखते हुए हर 2 साल में सभी पुलिस कर्मचारियों की चिकित्सा जांच करवाई जाएगी। उन्होंने पुलिस हरियाणा पुलिस की कार्यशैली व भविष्य की योजनाओं की जानकारी दी।