भाजपा सरकार में प्रदेश के हालत ऐसे हैं जैसे ‘अंधेर नगरी चौपट राजा’: अभय सिंह चौटाला

भाजपा सरकार में प्रदेश के हालत ऐसे हैं जैसे ‘अंधेर नगरी चौपट राजा’: अभय सिंह चौटाला

कहा – जनविरोधी भाजपा गठबंधन सरकार में प्रदेश का विनाश होना निश्चित है जो आज यह स्पष्ट दिखाई देता है

जनता से जुड़ी समस्याओं का समाधान करना तो दूर की बात है उलटा भाजपा गठबंधन सरकार ने महंगाई, बेरोजगारी, लचर कानून व्यवस्था, गरीबों के खाने पर जीएसटी, अवैध खनन और माफिया राज जैसी समस्याएं जनता पर थोप दी हैं

पूर्व मुख्यमंत्री  ओम प्रकाश चौटाला ‘सरकार आपके द्वार कार्यक्रम’ के तहत स्वयं गावों में जाते थे और जनता की सभी छोटी-बड़ी समस्याओं का निवारण मौके पर करते थे

 ओम प्रकाश चौटाला के मुख्यमंत्री रहते प्रदेश में जब भी कभी कोई आपदा आती थी तो डीसी, एसपी और एसडीएम जैसे अधिकारियों समेत पूरे प्रशासन को आपदा को नियंत्रण करने में लगा दिया जाता था जिस कारण लोगों को तुरंत राहत मिलती थी

चंडीगढ़, 25 जुलाई रवि पथ :

इनेलो के प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा गठबंधन सरकार पर ‘अंधेर नगरी चौपट राजा’ वाली कहावत बिल्कुल स्टीक बैठती है। उन्होंने कहा कि जनविरोधी भाजपा गठबंधन सरकार में प्रदेश का विनाश होना निश्चित है जो आज यह स्पष्ट दिखाई देता है। जनता से जुड़ी समस्याओं का समाधान करना तो दूर की बात है उलटा भाजपा गठबंधन सरकार ने महंगाई, बेरोजगारी, लचर कानून व्यवस्था, गरीबों के खाने पर जीएसटी, अवैध खनन और माफिया राज जैसी समस्याएं जनता पर थोप दी हैं। प्रदेश में चारो तरफ लूट, आतंक, भय और भ्रष्टाचार का बोलबाला है। सरकारी द$फतरों में भ्रष्टाचार इतना भयंकर रूप ले चुका है कि आम जनता को छोटे से छोटे काम के लिए घूस देनी पड़ती है। सडक़, बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं का टोटा है। शहरों और गावों के हालात इतने खराब है कि बारिश के पानी की निकासी न होने के कारण घरों में पानी खड़ा है जिससे लोगों का जीना दूभर हो गया है। बच्चे स्कूल में नहीं जा पा रहे हैं क्योंकि स्कूल के कमरों तक में पानी भरा है।
उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री  ओम प्रकाश चौटाला ‘सरकार आपके द्वार कार्यक्रम’ के तहत स्वयं गावों में जाते थे और जनता की सभी छोटी-बड़ी समस्याओं का निवारण मौके पर करते थे। उनके मुख्यमंत्री रहते प्रदेश में जब भी कभी कोई आपदा आती थी तो डीसी, एसपी और एसडीएम जैसे अधिकारियों समेत पूरे प्रशासन को आपदा को नियंत्रण करने में लगा दिया जाता था जिस कारण लोगों को तुरंत राहत मिलती थी।
भाजपा ने आठ साल के कार्यकाल के दौरान गरीब, मजदूर और किसानों के कल्याण के लिए कोई काम नहीं किया है। भाजपा गठबंधन सरकार ने उलटे किसानों को जम कर लूटा है और प्रताड़ित किया है। किसान अपनी फसलों को लेकर परेशान है, उनके खेतों में बारिश का पानी खड़ा है जिससे फसलें लगभग नष्ट हो गई हैं। आज भी किसान अपनी फसलों के मुआवजे को लेकर धरने पर बैठे हैं लेकिन भाजपा सरकार में उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। प्रदेश में भाजपा गठबंधन सरकार के राज में सारा सिस्टम चौपट हो गया है