सरकार का बार-बार पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के दामों में भारी भरकम बढ़ोतरी करके जनता का जीना दूभर कर दिया है – बजरंग गर्ग

सरकार का बार-बार पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के दामों में भारी भरकम बढ़ोतरी करके जनता का जीना दूभर कर दिया है – बजरंग गर्ग

भाजपा सरकार ने जनता को महंगाई व बेरोजगारी के सिवाय कुछ नहीं दिया – बजरंग गर्ग

देश व प्रदेश की जनता महंगाई व बेरोजगारी से बेहद दुखी है – बजरंग गर्ग

हिसार   रवि पथ –

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी जिला हिसार द्वारा पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के दामों में भारी भरकम बढ़ोतरी के विरोध में आज कांग्रेस पार्टी ने जोरदार प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेतागण ने प्रदर्शन में कांग्रेस भवन से जिला उपायुक्त कार्यालय तक पैदल मार्च करते हुए कांग्रेस पार्टी के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता बजरंग गर्ग के नेतृत्व में बढ़ती मंहगाई के खिलाफ महामहिम राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन जिला प्रशासन को दिया। जिसमें रेडी खच्चर गाड़ी में खाली गैस सिलेंडर, बिना पेट्रोल का स्कूटर रखकर सड़क कर प्रदर्शन किया। कांग्रेस पार्टी के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता व जिला कन्वीनर बजरंग गर्ग ने उपस्थित कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा बार-बार रसोई गैस के साथ-साथ पेट्रोल में डीजल के दामों में भारी भरकम बढ़ोतरी करके जनता का जीना दूभर कर दिया है। बजरंग गर्ग ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जनता को लूटने व धोखा देने का सबसे बड़ा सबूत इस बात से लगाया जा सकता है पिछले 8 सालों में कच्चे तेल की कीमतें यूपीए सरकार के शासन की तुलना में बहुत कम रही है। लेकिन पेट्रोल व डीजल की कीमतें यूपीए सरकार की दरों से बहुत अधिक कर दी गई है। जबकि पिछले 8 सालों में कच्चे तेल की औसत कीमत 60.6 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल है, यूपीए सरकार के आखरी 3 वर्षों में यानी वर्ष 2011 से 2014 तक 108.46 अमेरिकी डॉलर थी और रसोई गैस यूपीए सरकार में लगभग 400 रूपये था मगर अब गैस सिलेंडर की कीमत 1000 रूपये प्रति सिलेंडर होने से आम आदमी का रसोई का बजट पूरी तरह से बिगड़ चुका है। बजरंग गर्ग ने कहा कि इस सरकार में जनता को महंगाई व बेरोजगारी के सिवाय कुछ नहीं दिया। देश व प्रदेश में महंगाई व बेरोजगारी से जनता बेहद दुखी है। सरकार महंगाई को कम करने की वजह बार-बार महंगाई बढ़ाने मे लगी हुई है। इस राज्य में उच्च शिक्षा प्राप्त युवा पीएन तक की नौकरी के लिए धक्के खा रहे हैं।