जिला मुख्यालय पर 12 से 14 दिसंबर तक होगा गीता जयंती महोत्सव का आयोजन

जिला मुख्यालय पर 12 से 14 दिसंबर तक होगा गीता जयंती महोत्सव का आयोजन

हिसार, 06 दिसंबर  रवि पथ :

उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी ने बताया कि जिला मुख्यालय पर आगामी 12 से 14 दिसंबर तक गीता जयंती महोत्सव का आयोजन किया जाएगा।
वे सोमवार को स्थानीय लघु सचिवालय परिसर स्थित जिला प्रशासन सभागार में गीता जयंती महोत्सव के आयोजन को लेकर आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रही थी। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन व सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित किए जाने वाले इस समारोह में अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इनमें गीता जयंती महोत्सव, गीता सेमीनार, गीता हवन और पाठ, स्कूली बच्चों की पेंटिंग तथा अन्य प्रतियोगिताएं, प्रदर्शनी, सांस्कृतिक कार्यक्रम, नगर शोभा यात्रा सहित अनेक कार्यक्रम समारोह की शोभा को बढाएंगे। देश की आजादी के इस वर्ष 75 वर्ष पूरे हुए हैं, इसलिए जिला स्तरीय गीता महोत्सव का थीम आजादी का अमृत महोत्सव रहेगा। उन्होंने बताया कि सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग द्वारा लगाई जाने वाली प्रदर्शनी में आजादी के अमृत महोत्सव के साथ-साथ पवित्र ग्रंथ गीता और सरकार की योजनाओं की जानकारी देने के लिए विभिन्न विभागों द्वारा स्टालें भी लगाई जाएगी।
उपायुक्त ने गीता जयंती महोत्सव के दौरान आयोजित किए जाने वाले सभी कार्यक्रमों की समुचित ढंग से देखभाल करने के लिए अतिरिक्त उपायुक्त स्वप्रिल रविंद्र पाटिल को नोडल अधिकारी बनाया है। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की देख-रेख के लिए नगराधीश विजया मलिक तथा नगर शोभा यात्रा के लिए हिसार के एसडीएम जगदीप सिंह को जिम्मेवारी दी गई है। उन्होंने बताया कि महोत्सव के दौरान कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, सूचना विज्ञान प्रौद्योगिकी विभाग, स्वास्थ्य विभाग, चुनाव कार्यालय, नवीन एवं नवीकरणीय उर्जा विभाग, बिजली निगम, जिला रेडक्रॉस सोसायटी, बागवानी विभाग, पशुपालन विभाग सहित विभिन्न विभागों द्वारा प्रदर्शनी स्टाल भी लगाई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा समारोह स्थल पर वैक्सीनेशन शिविर भी लगाया जाएगा।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त स्वप्रिल रविंद्र पाटिल, नगराधीश विजया मलिक, जिला शिक्षा अधिकारी कुलदीप सिहाग, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी धनपत, तहसीलदार हरिकेश गुप्ता, बिजली निगम के कार्यकारी अभियंता बिजेंद्र लांबा, रेडक्रॉस सोसाटी के सचिव रविंद्र लोहान सहित विभिन्न संगठनों एवं संस्थाओं के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।