संयुक्त आबकारी व कराधान आयुक्त आशुतोष राजन ने हिसार, फतेहाबाद व सिरसा जिलों के आबकारी अधिकारियों व ठेकेदारों की बैठक ली

संयुक्त आबकारी व कराधान आयुक्त आशुतोष राजन ने हिसार, फतेहाबाद व सिरसा जिलों के आबकारी अधिकारियों व ठेकेदारों की बैठक ली

आबकारी नीति 2021-22 के बारे में सुझाव मांगे

हिसार, 05 फरवरी  रवि पथ :

संयुक्त आबकारी व कराधान आयुक्त आशुतोष राजन ने लघु सचिवालय में हिसार, फतेहाबाद व सिरसा जिलों के आबकारी अधिकारियों व ठेकेदारों की बैठक ली। बैठक के दौरान उन्होंने तीनों जिलों के आबकारी विभाग के कार्य एवं राजस्व प्राप्ति की विस्तार से समीक्षा की एवं आगामी आने वाली आबकारी नीति 2021-22 के बारे में अधिकारियों एवं ठेकेदारों से सुझाव मांगे।
उन्होंने बताया कि वर्ष 2020-21 में पिछले वर्षों की अपेक्षा हिसार जिले में लगभग 17.7 प्रतिशत अधिक राजस्व की प्राप्ति सरकारी कोष में दर्ज की गई है। हिसार जिले में जनवरी 2020 तक 221.34 करोड़ रुपये राजस्व की प्राप्ति हुई थी जबकि जनवरी 2021 तक 260.52 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। फतेहाबाद जिले में लगभग 43.74 प्रतिशत अधिक राजस्व की प्राप्ति सरकारी कोष में दर्ज की गई है, फतेहाबाद जिले में जनवरी 2020 तक 67.92 करोड़ रुपये की प्राप्ति हुई थी, जबकि जनवरी 2021 तक 97.63 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। सिरसा जिले में लगभग 18.28 प्रतिशत अधिक राजस्व की प्राप्ति सरकारी कोष में दर्ज की गई है, सिरसा जिले में जनवरी 2020 तक 131.23 करोड़ रुपये की प्राप्ति हुई थी, जबकि जनवरी 2021 तक 155.22 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है।
इस मौके पर हिसार के उप-आबकारी एवं कराधान आयुक्त राज कुमार सिंगला ने बताया कि इस वर्ष पिछले वर्षों की अपेक्षा शराब का अतिरिक्त कोटा अधिक मात्रा में उठाया गया है एवं इस पर सरकार को अतिरिक्त आबकारी शुल्क की प्रप्ति हुई है। हिसार जिला में वर्ष 2019-20 में शराब का अतिरिक्त कोटा शुन्य उठाया गया था, जबकि वर्ष 2020-21 में 23.73 लाख पीएल अभी तक उठाया जा चुका है, जिससे सरकार के राजस्व में अतिरिक्त8.42 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। फतेहाबाद जिला में वर्ष 2019-20 में शराब का अतिरिक्त कोटा शुन्य उठाया गया था, जबकि वर्ष 2020-21 में 9.11 लाख पीएल अभी तक उठाया जा चुका है, जिससे सरकार के राजस्व में अतिरिक्त 2.87 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। इसी प्रकार सिरसा जिले में वर्ष 2019-20 में शराब का अतिरिक्त कोटा शुन्य उठाया गया था, जबकि वर्ष 2020-21 में 12.33 लाख पीएल अभी तक उठाया जा चुका है, जिससे सरकार के राजस्व में अतिरिक्त 3.80 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। तीनों जिलों की कुल अतिरिक्त आबकारी ड्यूटी 15.09 करोड़ रुपये पिछले वर्षों की तुलना में अधिक प्राप्त हई हैं।


बैठक के दौरान आशुतोष राजन ने हिसार जिले में शराब की डिस्टलरी के बारे में संज्ञान लेते हुए यह निर्देश दिए कि आबकारी विभाग का कर्मचारी एवं एक आबकारी पुलिस का कर्मचारी 24 घंटे ड्यूटी पर तैनात रहे ताकि हर गतिविधि पर नजर रखी जा सके। उन्होंने हर सप्ताह डिस्टलरियों में लगे सीसीटीवी कैमरों की जानकारी फीड के माध्यम से डीईटीसी के कार्यालय में जमा करवाने एवं उसकी रिपोर्ट हर 15 दिन बाद मुख्यालय को भिजवाए जाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कहा कि इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। उन्होंने शराब के ठेकेदारों से आगामी वर्ष 2021-22 की एक्साईज नीति के बारे सुझाव भी मांगे। उन्होंने शराब के ठेकेदारों को इस विषय से संबंधित निर्देश दिए कि वे अपने सुझाव लिखित रूप में निर्धारित समय अवधि के तहत मुख्यालय भिजवाना सुनिश्चित करें ताकि आबकारी नीति 2021-22 के निर्धारण के समय उनके सुझावों का भी ध्यान रखा जा सके। इस अवसर पर तीनो जिलों के उप-आबकारी एवं कराधान आयुक्त, हिसार से राज कुमार सिंगला, फतेहाबाद से वीके शास्त्री व सिरसा से जितेंद्र कुमार राधव मौजूद रहे।